20+ तबीयत खराब शायरी | बीमारी पर शायरी | New बुखार शायरी (2022)

तबीयत खराब शायरी बुखार पर शायरी

दोस्तों आज हम आपके लिए लेकर आये हैं तबीयत खराब शायरी जिसमें हम आपके साथ तबीयत खराब होने की शायरी, बीमारी पर शायरी, बुखार पर शायरी और बीमार होने पर शायरी को शेयर करेंगे।

जैसे की आज कल एक ट्रेंड सा है कि हमें अपनी हर गतिविधि के बारे में स्टेटस पर शेयर करना होता है। तो जब हमें स्टेटस लगा कर लोगों को बताना ही है कि हमारी तबीयत खराब है तो क्यों ना इस स्टेटस को शायरी के अंदाज़ में लगाया जाए जिसे देखने वालों का भी ध्यान आकर्षित हो सापके व्हाट्सअप स्टेटस की तरफ।

Read Also: 👉 आज मन उदास है शायरी

तबीयत खराब शायरी

 

तबीयत खराब शायरी स्टेटस
तबीयत खराब स्टेटस

हमारी रहने लगी है तबीयत खराब

देखकर तेरे बदलते हुए अंदाज़।।

 

तेरे जाने से दिल की धड़कन थम जाती है

देखूं ना अगर तुम्हें तो तबीयत खराब हो जाती है।।

 

तबीयत खराब है शायरी

हाल ना पूछो हमारा हाल बहुत बेहाल है

तबीयत खराब है और बीत चला साल है।।

 

बद्दुआएं मिली हैं इसलिए दवा काम नहीं आती

दिन ब दिन हमारी तबीयत खराब होती है जाती

 

प्यार तबीयत खराब शायरी

वो हमारी ज़िंदगी से जैसे जैसे दूर जाने लगी

हमारी तबीयत वैसे वैसे खराब होती चली गयी  

 

तबीयत भी ठीक थी

इतना बुरा हाला ना था

यह तब की बात है

जब किसी से प्यार ना था

 

बीमारी पर शायरी

 

हमें इश्क़ की ऐसी बीमारी हुई है

तेरे बाद ना कोई और हमारी हुई है।।

 

इश्क़ में डूबा कर उन्हेंने अपने हमें बेकार कर दिया

उनके छोड़ कर जाने के गम ने हमें बीमार कर दिया

 

तरक़्क़ी कर गए बीमारियों के सौदागर 

ये सब मरीज़ हैं जो अब दवाएँ करने लगे

– राहत इंदौरी

 

तबीयत खराब शायरी हिंदी

तंदुरुस्ती से तो बेहतर थी मिरी बीमारी

वो कभी पूछ तो लेते थे कि हाल अच्छा है

– हफ़ीज़ जौनपुरी

 

इश्क़ का ऐसा हुआ बुखार

में आजकल रहने लगा हूँ बीमार

 

इश्क़ कर जोड़ा फिर खुद ही तोड़ गया

बीमारी लगा कर इश्क़ की हमें बीमार छोड़ गया

 

बुखार पर शायरी

 

शरीर का तापमान बढ़ रहा है

लगता है मुझे बुखार चढ़ रहा है

 

आज बदन तप्तपा रहा है

सर भी दर्द से फ़टे जा रहा है

सेहत का ख्याल नहीं रखा

इसलिए शायद बुखार आ रहा है

 

दुख रहा है बदन और सुस्ती सी छाई है

यह बुखार है या कोई और बीमारी आयी है।

 

बुखार बीमार होने पर शायरी   

 

बस एक बार हो जाए उस हसीना का दीदार

तो खत्म हो जाएगा यह चढ़ता हुआ बुखार

 

मौसम बदलने का जब चढ़ता है खुमार,

थोड़ी-सी लापरवाही में बढ़ता है बुखार।

 

इश्क़ का बुखार जब चढ़ता है

तो यह सीधे दिल पर असर करता है

 

तबीयत खराब शायरी स्टेटस

नजरों से नजरे मिलती

कुछ इस तरह दीदार हो गया,

मुझे इश्क़ करना नहीं था

दिल को बेवजह बुखार हो गया

 

आशिकी का बुखार बढ़ता ही जायेगा,

जब तक वो अपने गले से नहीं लगायेगा।

 

बीमार होने पर शायरी

 

सेहत का ख्याल नहीं रखोगे

तो बीमार हो जाओगे

फिर लगवाने पड़ेंगे इंजेक्शन

गर बिना सोचे समझे खाओगे

 

बीमार वो पड़ते हैं और हमें बेचैनी हो जाती है

इश्क़ की बीमारी भी कैसे कैसे रंग दिखाती है।। 

 

बीमारी से खुद को बचाये रखो

योग, व्यायाम करके खुद को

तन्दरुस्त बनाये रखो

 

तबीयत खराब शायरी hindi   

सोचता हूँ कि में बीमार ही अच्छा था

वो हमारा हाल तो पूछा करते थे।। 

 

बीमारी हमारा पीछा छोड़ कर जाती ही नहीं

इश्क़ में पागल महबूबा की तरह पीछे पड़ी है।।

 

जो भी आता है बताता है नया कोई इलाज

बंट न जाए तेरा बीमार मसीहाओं में

क़तील शिफ़ाई

 

यदि आपको यह तबीयत खराब शायरी ब्लॉग पोस्ट की बीमारी पर शायरी, बुखार पर शायरी पसंद आई तो आप इस शायरी को आगे शेयर जरूर करें। धन्यवाद