75+ Saree Shayari: साड़ी पर शायरी | best shayari on saree

saree shayari in hindi

आज हम आपके लिए Saree Shayari लेकर आये हैं, जिसमें आपके साथ saree shayari in hindi और shayari on saree शेयर की जाएगी इसको पूरा जरूर पढ़ें और अपने जानने वालों के साथ शेयर भी करें।

साड़ी एक इस्त्रियों के पहनने का भारतीय पहनावा है जो बहुत पुरातन समय से इस्त्रियाँ पहनती आ रही हैं। अलग अलग प्रकार की बहुत सी किस्मों की साड़ियाँ आती हैं। और साड़ी पहनने के बाद इस्त्रियों की खूबसूरती में चार चांद लग जाते हैं।

यदि आप किसी की तारीफ करने के लिए साड़ी पर शायरी की तलाश कर रहे हैं तो आपको यहाँ सबसे बेहतरीन saree shayari मिलेगी। इस शायरी को आप किसी को भी भेज कर उसकी खूबसूरत साड़ी की तारीफ कर सकते हैं। तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं साड़ी शायरी।

Read Also👇
Jhumka Shayari

Bindi Shayari

saree shayari: साड़ी पर शायरी

साड़ी पर शायरी हिंदी में
साड़ी पर शायरी हिंदी में फ़ोटो

आज भी उतनी ही खूबसूरत दिखती हो साड़ी में,

ये बात और है, अब हमें निहारने की इजाज़त नहीं।

 

तारीफ़ करता था मैं उसकी जुल्फों की,

मेरे लफ़्ज कम पड़ गये जब उसने साड़ी पहन ली।

 

आज मैंने साड़ी क्या पहनी,

मुझे खुद से इश्क़ हो गया।

 

यूँ तो हर कपड़े में खूबसूरत दिखती हो,

पर साड़ी में तो हद ही पार कर देती हो।

 

नारंगी साड़ी में ये कातिलाना मुस्कान,

क्या सच में ले लोगी मेरी जान।

 

लाल रंग की साड़ी पर शायरी

saree par shayari image
saree shayari image

लाल साड़ी पहन कर जब तुम आती हो

सबके दिलों पे फिर कहर ढाती हो

 

लाल साड़ी में देखा तुझे तेरा दीवाना हो गया

मेरा दिल तेरा होकर मुझसे ही बेगाना हो गया

 

साड़ी पहन कर आई तुम रंग जिसका लाल है

खूबसूरती की सारी हदें पार कर लग रही कमाल है

 

मेरे दिल पर इश्क़ का उसने डाला है जाल

वो आज फिर से साड़ी पहन आयी है लाल

 

हरी साड़ी पर शायरी

saree shayari image
saree shayari image

हरी साड़ी तेरी लग रही कामाल है

तू मुझको आज लग रही बवाल है

 

देखा जब तेरी तस्वीर को निहारता रह गया

मेरा दिल तेरी हरी साड़ी में कहीं अटक गया

 

साड़ी में उनकी एक झलक क्या देखी,

इन आँखों ने पलक झपकना ही बंद कर दिया।

 

साड़ी में देखकर उन्हें अपनी आँखे बंद कर ली,

ये कह कर कि कही उनको मेरी नजर ना लग जाएँ।

 

गुलाबी साड़ी पर शायरी

hindi saree shahari image
hindi saree shayari image

कयामत तो नहीं देखी,

मगर हां, उसे गुलाबी साड़ी में देखा है।

 

गुलाबी साड़ी में खूबसूरत लगते है, ऐसा वो हमेशा कहते है,

अब उन्हें कैसे बताएं हम तैयार भी तो उनके लिए ही होते है।

 

ना जाने कितने दिलों का वो कत्ल करने आई है,

एक खूबसूरत हसीना गुलाबी साड़ी पहनकर आई है।

 

साड़ी के पल्लू को कमर में यूँ ना सरेआम दबाया करो,

कमर का तो पता नहीं, दिल हमारा लचक जाता है।

 

पीले रंग की साड़ी पर शायरी

saree shayari photo
saree shayari photo

कितनी सुंदर लगती है वह नारी,

जिसने पहन रखी हो पीले रंग की साड़ी।

 

यूँ तो हर कपड़े में खूबसूरत दिखती हो,

पर साड़ी में तो हद ही पार कर देती हो।

 

आज तुम यूँ साड़ी पहन कर सामने आ गई,

मैं घटा मानता था तुम तो बिजली गिरा गई।

 

चेहरे की मुस्कान तेरी और भी कमाल होती,

बस लाल साड़ी पर तेरी बिंदी भी लाल होती।

 

Read Also👇

Payal Shayari

चूडियों पर शायरी

Shayari On Saree

 

saree shayari status image
saree shayari status image

गज़ब हो तुम, ये नखरे तुम्हारे बवाल

पहनती हो जब तुम साड़ी लगती हो कमाल.

 

Gazab Ho Tum, Ye Nakhre Tumhaare Bawal,

Pahanti Ho Jab Tum Saari Lagti Ho Kamal.

 

 

साड़ी में उसका पेट दिखा,

जीन्स टॉप में दिखी है कमर,

शोर्ट स्कर्ट में दिखती है टाँगे

कितनी खराब है मेरी नजर.

 

Saari Me Uska Pet Dikha,

Jeans Top Me Dikhi Hai Kamar,

Short Skirt Me Dikhti Hai Tange

Kitni Kharab Hai Meri Nazar.

 

 

साड़ी पहनना बहुत पसंद है उसे,

और मुझे साड़ी में वो.

 

Saari Pahanna Bahut Pasand Hai Use,

Aur Mujhe Saari Me Wo.

 

shayari on saree in hindi

 

आने वाली पीढ़ी आंचल का सुख ना पायेगी,

जींस पहनने वाली माँ आंचल कहाँ से लायेगी।

 

Aane wali peedhi aanchal ka sukh na payegi

Jeans pehnne wali maa anchal kaha se layegi

 

 

नारी की शोभा अगर साड़ी से,

फिर पहनो तुम भी कुर्ता खुद्दारी से।

 

Nari ki shobha agar saree se

Fir pehno tum bhi kurta khuddari se

 

 

खूबसूरती तेरी जैसे कोई निकल आया चाँद

जब पहनती हो साड़ी कुछ नहीं खूबसूरत तेरे बाद

 

Khubsurti teri jaise koi nikal aaya chand

Jab pehnti ho saree kuch nahi khubsurat tere baad

 

 

attitude shayari on saree

 

saree shayari image
saree shayari image

मैं जब निकलती हूँ पहन कर साड़ी

मुझे देख जलती हैं जींस वाली भी सारी

 

Main jab nikalti hu pehna kar saree 

Mujhe dekh jalti hai jeans wali ladkiyan sari

 

 

उसने कहा साड़ी पहनकर मैं लगती हूँ आग

मैंने कहा चल यहां से भाग

 

Usne kaha saree pahan kar main lagati hu aag

Maine kaha chal yaha se bhaag

 

 

साड़ी एकमात्र ऐसा परिधान है,

जो सदियों से फैशन में है.

 

Saree EKmatra Aisa Paridhan Hai,

Jo Sadiyo Se Fashion Me Hai.

 

hindi shayari on saree   

 

जब मैं एक साड़ी पहनती हूं,

तो मैं खुद को स्त्री महसूस करती हूं.

 

Jab Mai Ek Saree Pahanti Hu,

To Mai Khud Ko Stree Mahsus Karti Hu.

 

 

आप बिना साड़ी के भारतीय,

जीवन को अनुभव नहीं कर सकते.

 

Aap Bina Saree Ke Bhartiya,

Jivan Ko Anubhav Nahi Kar Sakte.

 

 

कोई भी वस्त्र किसी भारतीय लड़की को

साड़ी जितनी खूबसूरत नहीं बनाती

 

Koi bhi vastr kisi bhartiya ladki ko

Saree jitni khubsurat nahi banati

Read Also👇
Chashma shayari

Kajal Shayari

beautiful saree shayari

lal saree shayari image
lal saree shayari image

मैं जीन्स नहीं पहनती

तुम मुझे साड़ी में अपना लेना

मैं होना चाहती हूं आपकी

तुम मुझे अपना बना लेना

 

Main jeans nahi pahanti

Tum mujhe saree me apna lena

Main hona chahti hu aapki

Tum mujhe apna bana lena

 

 

तुम साड़ी पहनकर मुझे कर रही हो दीवाना

तुम मेरी हो जाओ मुझे तुमसे दिल है लगाना

 

Tum saree pahankar mujhe kar rahi ho deewana

Tum meri ho jao mujhe tumse dil hai lagana

 

 

यह अपनी अदाएं ज़रा कम दिखाया करो

हम घायल हो जाते हैं तेरी अदाओं से

यह साड़ी पहन मेरे सामने मत आया करो

 

Yeh apni adayein zara kam dikhaya karo

Hum ghayal ho jaate hai teri adaaon se

Yeh saree pehan mere samne mat aaya karo

 

saree shayari instagram in hindi

 

कभी लाल कभी पीली कभी गुलाबी साड़ी,

मुझे ज़ख़्मी किया ज़ालिम तेरे इन्ही हथियारो ने।

 

Kabhi laal kabhi peeli kabhi gulabi saree

Mujhe zakhmi kiya zaalim tere inhi hathiyaron ne

 

 

साड़ी पहनकर तुम मेरी निकाल रही हो जान

यह अदाएं मत दिखाओ कहीं मेरे निकल ना जाये प्राण

 

Saree pahankar tum meri nikal rahi ho jaan

Yeh adayein mat dikhao kahi mere nikal na jaaye paraan

 

 

रंग साड़ी का और निखरेगा 

फूल गेंदे का इक लगाओ तो

(सफ़ीया चौधरी)

 

Rang saree ka aur nikhrega

Phool gende ka ik lagao toh

 

साड़ी स्टेटस इन हिंदी

 

पल्लू गिरता हुआ साड़ी का उठा कर ‘मंसूर’

चलती है छलकी हुई दूध की गागर की तरह

(मंसूर आफ़ाक़)

 

Pallu girta hua saree ka utha kar mansoor

Chalti hai chhalki huyi doodh ki gagar ki tarah

 

 

इक तस्वीर में लहराया नीली साड़ी का पल्लू

एक दिवाना उस तस्वीर पे मी-रक़सम करता था

(ओसामा ज़ाकिर)

 

Ik tasveer mein lehraya neeli saree ka pallu

Ek deewana us tasveer pe mi-raqsam karta tha

 

 

जब वो निकले पहन कर साड़ी

तब यह देखे दुनियाँ सारी

 

Jab woh nikle pehan kar saree

Tab yeh dekhe duniya saari

 

saree shayari in hindi

 

साड़ी में देखा था उसे और अपनाया था

साड़ी में देख कर मेरा दिल उस पर आया था

 

Saree mein dekha tha usey aur apnaya tha

Saree mein dekh kar mera dil us par aaya tha

 

 

वो मॉडर्न जमाने मे भी साड़ी पहन कर आती है

उसकी यही क़ातिल अदाएं मेरे दिल को भाती हैं

 

Woh modern zamane me bhi saree pehan kar aati hai

Uski ye qatil adayein mere dil ko bahati hai

 

 

जब वो साड़ी पहन बनकर आयी बवाल

मैंने उसके कदमों में अपना दिल दिया डाल

 

Jab Woh Saree Pehan Bankar Aayi Bawal

Maine Usme Kadmo Me Apna Dil Diya Daal

 

black saree shayari

 

मैं तारीफ करता था उसकी खूबसूरती कि,

मेरे लफ़्ज़ कम पड़ गए जब उसने काली साड़ी पहन ली

 

Main Tareef Karta Tha Uski Khubsurti Ki

Mere Lafz Kam Pad Gaye Jab Usne Kaali Saree Pehan Li

 

 

काली साड़ी में कैसी लगती हूँ वो पूछी अपने जान से,

आशिक बोला ‘हीरा’ निकल रहा हो जैसे कोयले की खान से.

 

Kali Saree Me Kaisi Lagti Hu Vo Puchhi Apne Jaan Se,

Aashq Bola ‘Heera’ Nikal Raha Ho Jaise Koyale Ki Khan Se.

 

 

एक तो काली साड़ी ऊपर से गालों पर तिल,

आगे बढ़ेगा ये मोहब्बत या फिर जलेगा दिल.

 

Ek To Kaali Saree Upar Se Gaalo Par Til,

Aage Badhega Ye Mohabbat Ya Fir Jalega Dil.

 

 

दोस्तों यदि आपको यह Saree Shayari पसंद आई है तो आप इस शायरी को अपने दोस्तों और अपनी साड़ी पहनने वाली प्रेमिका के साथ भी ज़रूर शेयर करें। यदि आप किसी की शायरी की तारीफ करना चाहते हैं तो आप इस शायरी के माध्यम से कर सकते हैं।

साड़ी भारत का एकमात्र ऐसा पहनावा है जिसे भारत में सबसे अधिक पहना जाता है बदलते दौर के साथ आज भी साड़ी अपना अस्तित्व बनाये हुए हैं। 

 

Read More 👇

Fanaa Shayari

Diljale Shayari

Chand shayari

Taqdeer Shayari