Ibadat Shayari | 20+ Best Ibadat Quotes | खुदा की इबादत शायरी [2022]

ibadat shayari and quotes

Friends, today we have brought Ibadat Shayari for you. In this ibadat shayari, Khuda ki Ibadat shayari, Allah ki ibadat shayari and Mohabbat ibadat shayari will be shared with you. Along with this we are also sharing Ibadat Quotes with you. Ibadat meaning

 

 We hope you like this Ibadat Shayari and you will definitely share this shayari with your friends. 

मशहूर शायरों की शायरी

Ibadat Shayari In Hindi

 

सुबह शाम तेरी इबादत में बिताया हमने

खुद को तेरे ही कदमों में बिछाया हमने

Subah sham teri ibadat mein bitaya humne

Khud ko tere hi kadmo mein bichhaya humne

 

Ibadat shayari in urdu

करते हैं जो उसकी इबादत 

तो नाराज़ खुदा हो जाता है

करें खुदा की इबादत तो

मेरा यार खफा हो जाता है

Karte hain jo uski ibadat

Toh naraz khuda ho jata hai

Karein khuda ki ibadat toh

Mera yaar khafa ho jata hai

 

कितना तुम्हें हम चाहते हैं

इसका अंदाज़ा इस बात से लगा लो

के हम हर पल तेरी इबादत में बिताते हैं

Kitna tumhe hum chahte hain

Iska andaza is baat se laga lo

Ke hum har pal teri ibadat mein beetate hain

 

इबादत शायरी हिंदी

धड़कने तेरे ही नाम से मेरी चल रही हैं

तेरी इबादत करते यह ज़िंदगी गुज़र रही है

Dhadkane tere hi naak se meri chal rahi hain

Teri ibadat karte yeh zindagi guzar rahi hai

 

खुदा से ज्यादा तेरी इबादत करते रहे

नमाज़ की जगज हम तेरे नाम पढ़ते रहे

Khuda se jyada teri ibadat karte rahe

Namaz ki jagah hum tera naam padhte rahe

 

इबादत पर शायरी

इश्क़ में इतना डूब गए के खुद को भूल गए

हम तेरे ऐसे हुए फिर कभी संभल ना पाए

Ishq mein itna doob gaye ke khud ko bhool gaye

Hum tere aise huye fir kabhi sambhal na paye

 

Shayari On Khuda Ki Ibadat

 

तुमसे नहीं तेरे अंदर बैठे

खुदा से मोहब्बत है मुझे

तू तो बस एक ज़रिया है

मेरी इबादत का।।

Tumse nahi tere andar bethe

Khuda se mohabbat hai mujhe

Tu toh bas ek zariya hai

Meri ibadat ka… 

 

खुदा इबादत शायरी

क्या तब करोगे इबादत जब

तुम्हारे पास मोहलत नहीं होगी

कब झुकाओगे अपना सर जब

सर उठाने की ताकत ना होगी

Kya tab karoge ibadat jab

Tumhare pas mohlat nahi hogi

Kab jhukaoge apna sar jab

Sar uthane ki taqat nahi hogi

 

जब तक ज़िंदगी है

खुदा की इबादत करते रहो

अल्लाह अल्लाह करते हुए

उस खुदा पर ही मरते रहो

Khuda ibadat shayari

 

Jab tak zindagi hai

Khuda ki ibadat karte raho

Allah allah karte huye

Us khuda par hi marte raho

 

तेरी इबादत से मिली है मेरे वजूद को शोहरत

मेरा जिक्र ही कहाँ था तेरी रहमतों से पहले

Teri ibadat se mili hai mere wajood ko shauhrat

Mera zikar hi kaha tha teri rehmaton se pehle

 

Khuda ki ibadat shayari

हर छोटी से बड़ी घटना को

खुदा अंजाम देता है

फिर तू क्यों नहीं अपनी खुशियों में

उसका नाम लेता है

Har chhoti se badi ghatna ko

Khuda anzam deta hai

Fir tu kyun nahi apni khushiyon mein

Uska naam leta hai

 

जब खुदा के नाम की इबादत मैं करने लगा

रुक गया था जो जिस्म वो चलने लगा।।

Jab khuda ke naam ki ibadat main karne laga

Ruk gaya tha jo jism woh chapne laga… 

 

Shayari On Allah Ki Ibadat

 

इबादत करो अल्लाह की जब तक जान है

उस अल्लाह की मर्ज़ी से ही तुम्हारी शान है।।

Ibadat karo allah ki jab tak jaan hai

Us allah ki marzi se hi tumhari shaan hai… 

 

allah ibadat shayari

जब भरोसा रोखोगे तो

अल्लाह भी साथ निभाएगा

तेरी इबादतों का फल

तुम्हें एक दिन मिल जाएगा

Jab bharosa rakhoge toh

Allah bhi sath nibhayega

Teri ibadaton ka fal

Tumhe ek din mil jayega

 

राहों में मुसीबतों को देख कर रुकना मत

तुम इबादत करते रहना मंज़िल ज़रूर मिलेगी

Raahon mein musibaton ko dekh kar rukna mat

Tum ibadat karte rehna manzil zaroor milegi

 

रब इबादत शायरी
Khuda ibadat shayari

इबादत में अल्लाह की सर झुकाते हैं

जो माँगते है उससे वही पाते हैं।।

Ibadat mein allah ki sar jhukate hain

Jo mangte hain usse wahi paate hain… 

 

किस से सीखू मैं खुदा की इबादत,

सब लोग खुदा के बँटवारे किए बैठे है,

जो लोग कहते है खुदा कण कण में है,

वही मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारे लिए बैठे हैं

Kis se seekhi main khuda ki ibadat

Sab log khuda ke batware kiye baithe hai

Jo log kehte hain khuda kan kan me hai

Wahi mandir masjid gurudwara liye baithe hai

 

Allah Ibadat Shayari

तुम यहाँ मेरी इबादत किया करो

मैं क़बर में तुम्हारी हिफाज़त किया करूँगा।।

Tum yaha meri ibadat kiya karo

Main qabar mein tumhari hifazat kiya karunga… 

 

Mohabbat Ibadat Shayari

 

तेरा इश्क़ ही है मेरी इबादत,

मुझे और कुछ तो खबर नहीं…..!!

तुझे देख कर देखूँ ओर कहीं,

अब मेरे पास वो नज़र नहीं.

Tera ishq hi hai meri ibadat

Mujhe aur kuch toh khabar nahi

Tujhe dekh kar dekhu aur kahi

Ab mere paas woh nazar nahi

 

Ishq ibadat shayari
Ishq ibadat shayari

सुबह शाम करेंगे हम तेरी इबादत

तुम मेरी बन चुकी हो एक आदत

Subah sham karenge hum teri ibadat

Tum meri ban chuki ho ek aadat

 

इश्क़ इबादत पर शायरी

हम अपने यार के आगे सजदा करते हैं

हम उससे इतना ज्यादा प्यार करते हैं

Hum apne yaar ke aage sajda karte hain

Hum usse itna jyada pyar karte hain… 

 

हर पल मुझे तेरा ख्याल आता है

इबादत खुदा की करता हूँ

मगर दिल में तेरा नाम आता है

Har pal mujhe tera khayal aata hai

Ibadat khuda ki karta hu

Magar dil mein tera naam aata hai

 

dua ibadat shayari

तेरी इबादत करना मेरा जुनून है

तेरी हिफाज़त करना मुझे देता सुकून है।।

Teri ibadat karna mera junoon hai

Teri hifazat karna mujhe deta sukoon hai

 

ibadat shayari image

इश्क़ महसूस करना भी इबादत से कम नहीं,

ज़रा बताइये, छू कर खुदा को किसी ने देखा हैं

Ishq mehsus karna bhi ibadat se kam nahi

Zara batayein chhu kar khuda ko kisi ne dekha hai

 

Ibadat Quotes In Hindi

 

इबादत खुदा की जो तुम करने लगोगे

तो इस दुनिया से बिना डरे चलोगे

Ibadat khuda ki jo tum karne lagoge

Toh is duniya se bina dare chaloge

 

क्या मांगू इबादत में दुआ करके

जो भी मिला है बेशुमार मिला है

Kya mangu ibadat mein dua karke

Jo bhi mila hai beshumar mila hai

 

ibadat quotes in hindi

बिना मांगे ही सब कुछ मिलते जा रहा है

मेरा दिल भी खुदा की इबादत करते जा रहा है

Bina maange hi sab kuch milta jaa raha hai

Mera dil bhi khuda ki ibadat kart jaa raha hai

 

इज़ाज़त हो तो एक बात बताएं तुम्हें

इबादत हो तुम मेरी क्या अपना बनाये तुम्हें

Ijazat ho toh ek baat bataye tumhe

Ibadat ho tum meri kya apna banaye tumhe

 

ibadat shayari quotes

 

उस खुदा की इबादत देती है सुकून

उस पर भरोसा मुझे हिम्मत देता है

Us khuda ki ibadat deti hai sukoon

Us par bharosa mujhe himmat deta hai

 

करते रहें तेरी इबादत

तेरा साथ हमेशा बना रहे

तू हमसे कभी दूर ना हो

तेरे साथ जीवन चला रहे

Karte rahe teri ibadat

Tera saath hamesha bana rahe

Tu humse kabhi door na ho

Tere sath jeevan chala rahe

 

Read More👉Nusrat Fateh Ali Khan Shayari