31+ झूठ पर शायरी | New Jhooth Shayari In Hindi » Loyal Shayar

31+ झूठ पर शायरी | New Jhooth Shayari In hindi

Jhooth Shayari In Hindi: दोस्तों आज हम लेकर आये हैं झूठ पर शायरी, झूठ जिसे हर कोई ज़िन्दगी में कभी न कभी बोलता है लेकिन झूठ ज्यादा देर टिक नहीं पाता कभी न कभी सच सामने आ ही जाता है। आजकल झूठ की बुनियाद पर प्यार रिश्ते चलाते हैं लोग और जब सच्च सामने आता है तो फिर टूट जाया करते हैं। इस लिए बेहतर यही है के झूठ से जितना बच सको बचना चाहिए क्योंकि झूठ ज़िन्दगी भर नहीं टिक पाता।

दोस्तों ऐसे ही झूठ पर और झूठे लोगों पर शायरी हम आपके सामने पेश कर रहे हैं।

Jhuth / Jhooth Shayari In Hindi 

 

1. झूठ शायरी

झूठ पर शायरी
झूठ पर शायरी

तेरी बताई बात को मैं तेरी आँखों से जान लेता हूँ

लेकिन फिर भी मैं तेरे झूठ को सच्च मान लेता हूँ

Teri batayi baat ko main teri aankhon se jan leta hu

Lekin fir bhi main tere jhooth ko sach maan leta hu

 

2.

तेरी आँखों से तेरा झूठ दिखाई दे जाता है

पर हम तुझे खोने के डर से उसे सच्च मानते हैं

Teri aankhon se tera jhooth dikhayi de jata hai

Par hum tujhe khone ke darr se usey sach mante hai

 

3. झूठ स्टेटस

दीदी का फोन आ गया यह बोलकर कॉल  काट देती थी

वो हर बार खुद झूठ बोलकर मुझे डांट देती थी

Didi ka phone aa gaya yeh bolkar call kaat deti thi

Woh har baar khud jhooth bolkar mujhe daant deti thi

 

4.

तू बोलती है झूठ मैं यह भी जानता था

पर तेरी झूठ बात को भी सच्च मानता था

कुछ ऐसे करके मैं तुमसे रिश्ता निभाता था

क्योंकि मैं तुझे कभी खोना नहीं चाहता था

Tu bolti hai jhooth main yeh bhi janta tha

Par teri jhke oth baat ko bhi sach manta tha

Kuch aise karke main tumse rishta nibhata tha

Kyunki main tujhe kabhi khona nahi chahta tha

 

5.jhooth shayari in hindi

वो झूठ बोलता था इतनी मासूमियत से

हम ना चाहते भी ऐतबार कर बैठते थे

Woh jhooth bolta tha itni masumiyat se

Hum naa chahte bhi aitbaar kar bethte the

 

6.jhoot shayari

झूठ पर चलते हैं प्यार के रिश्ते

सच्च सामने आते ही टूट जाते हैं

Jhooth par chalate hai pyar ke rishte

Sach samne aate hi toot jate hai

 

7. Jhuth shayari

झूठ की बुनियाद पर चल रही थी ज़िन्दगी

उसने सच्च बोलकर हमें तोड़ दिया

Jhooth ki buniyad par chal rahi thi zindagi

Usne sachh bolkar hume todd diya

 

8.

उसका झूठा प्यार भी अच्छा लगता था

उसके मुहँ से निकला झूठ भी हमें सच्चा लगता था

Uska jhootha pyar bhi achha lagta tha

Uske mooh se nikla jhooth bhi hume sacha lagta tha

 

9.jhooth shayari 2 line

वो बेवफा है यह सच्च मैं पहले से जान गया था

लेकिन उसने आकर झूठ बोला और मैं मान गया था

Woh bewafa hai yeh sach main pehle se jan gaya tha

Lekin usne aakar jhooth bola aur main maan gaya tha

 

10.

हम झूठ की बुनियाद पर रिश्ते नहीं बनाते

शायद इसलिए आजतक अकेले है

Hum jhooth ki buniyad par rishte nahi banate

Shayad isliye aajtak akele hai

 

Jhooth Shayari 2 Line | झूठ पर शायरी 

 

11.jhooth shayari

झूठ और फरेब का जाल बिछाया जाएगा

उस जाल में लड़की को फंसाया जाएगा

करके शर्मसार पाक इश्क़ के नाम को

वैलेंटाइन का त्यौहार मनाया जाएगा

Jhooth aur fareb ka jaal bichhaye jayega

Us jaal mein ladki ko fasaya jayega

Karke sharmsar pak ishq ke naam ko

Valentine ka tyohaar manaya jayega

 

12.

jhooth shayari 2 lines
jhooth shayari 2 lines

कौन कहता है के झूठ के पाउँ नहीं होते

हमने झूठ के सहारे रिश्ते चलते देखे हैं

Kon kehta hai ke jhooth ke paon nahi hote

Humne jhooth ke sahare rishte chalte dekhe hai

 

13. Shayari on jhooth

झूठ बोलकर लोग शर्मिंदा नहीं होते आजकल

झूठ बोलकर बेगुनाह को गुनाहगार बता देते हैं

Jhooth bolkar logg sharminda nahi hote aajkal

Jhooth bolkar begunah ko gunahgar bataa dete hai

 

14. Jhooth shayari

वो कहता था के मुझे नफरत है झूठे लोगों से

पता नहीं कैसे रहता होगा आजकल वो खुद के साथ

Woh kehta tha ke mujhe nafrat hai jhoothe logo se

Pata nahi kaise rehta hoga aajkal woh khud ke saath

 

15. Jhoothe logg shayari

वो हर बार कोई झूठी कहानी बनाता था

अंत में हम उसके सच्च पर भी भरोसा ना कर पाए

Woh har baar koi jhoothi kahani banata tha

Ant mein hum uske sach par bhi bharosa naa kar paya

 

16.

दिल को हर बार संभाल लेता हूँ

वो आएगी यह झूठ बोल अब कमाल लेता हूँ

Dil ko har baar sambhal leta hu

Woh aayegi yeh jhooth bol ab kamaal leta hu

 

17. Jhuth par shayari

मैं सुन्ना चाहता था सच्च

वो हर बार झूठ सुना देता था

वो जब कभी सच्च भी बोलता था

तो मैं उसे भी झूठ बता देता था

Main sunna chahta tha sach

Woh har baar jhooth suna deta tha

Woh jab kabhi sach bhi bolta tha

Toh main usey bhi jhooth bataa deta tha

 

18.

झूठ की राह पर चल कर पाया था जिसे

वो झूठा प्यार करके चला गया

Jhooth ki raah par chal kar paya tha jise

Woh jhootha pyar karke chala gaya

 

झूठ फरेब शायरी – झूठ शायरी

 

19. Jhooth fareb shayari

उसके लफ़्ज़ों में बहुत दर्द होता था

ऐसा लगता था जैसे वो दिल से रोता था

उसकी बताई बातों पर हमें भी भरोसा होता था

मगर उसका बताया एक लफ्ज़ भी सच्च ना होता था

Uske lafzon mein bahut dard hota tha

Aisa lagta tha jaise woh dil se rota tha

Uski batayi baato par hume bhi bharosa hota tha

Magar uska bataya ek lafaz bhi sach naa hota tha

 

20.

पानी उसकी आँखों मे भी भर आया था

जब वो मुझे अलविदा कहने आया था

वो रहेगा मेरे बिना हमेशा खुश

जाते वक्त यह झूठ उसने मुझे सुनाया था

PaaNi uski aankhon mein bhi bhar aaya tha

Jab woh mujhe alvida kehne aaya tha

Woh rahega mere bina humesha khush

Jate waqt yeh jhooth usne mujhe sunaya tha

 

21.fareb shayari

सुना है झूठा आदमी

अपनी नज़रें झुका कर झूठ बोलता है

वो हमसे बात करते हुए

कभी नज़रें नही मिलाया करती थी

Suna hai jhootha aadmi

Apni nazrein jhuka kar jhooth bolta hai

Woh humse baat karte huye

Kabhi nazrein nahi milaya karti thi 

 

22.

मेरी ज़िंदगी से जाना था तो चले जाते बेशक

लेकिन झूठ बोलकर हमें धोखा क्यों देते रहे

Meri zindagi se jana tha toh chale jate beshak

Lekin jhooth bolkar hume dhokha kyun dete rahe

 

झूठ पर सुविचार

 

23. Jhooth suvichar

अक्सर हम लोग उनसे सच्च की उम्मीद करते हैं

जिन्होंने झूठ पर पूरी ज़िंदगी चलाई होती है

Aksar hum logg unse sachh ki umeed karte hai

Jinhone jhooth par poori zindagi chalayi hoti hai

 

24.

हम झूठ पर रिश्ते बना तो सकते हैं

पर उन रिश्तों को कभी चला नहीं सकते

Hum jhooth par rishte bana toh sakte hai

Par un rishton ko kabhi chala nahi sakte

 

25. झूठ विचार

कभी कुछ छुपाने के लिए झूठ ना बोलो

वरना आप झूठ के जाल में उलझ जाओगे

Kabhi kuch chhupane ke liye jhooth naa bolo

Varna aap jhooth ke jaal mein ulajh jaoge

 

26.

झूठ बोलकर पाई हुई खुशियाँ

आपको गम की गहराई में लेकर जा सकती है

जहाँ से आप वापिस नही आ पाओगे

Jhooth bolkar payi huyi khushiyan

Aapko gam ki gehrai mein lekar jaa sakti hai

Jaha se aap wapas nahi aa paoge

 

27.

यदि आप हर बात पर झूठ बोलते हैं तो

आपका सच्च भी लोगों को झूठ लगने लगता है

Yadi aap har baat par jhooth bolte hai toh

Aapka sach bhi logon ko jhooth lagne lagta hai

 

Read More

 Matlabi Shayari in hindi

Gussa Shayari in Hindi

Leave a Comment