रंग बदलते लोग शायरी | Best 10+ Rang Badalte Log Quotes (2022)

रंग बदलते लोग शायरी quotes

मित्रो आज हम लेकर आये हैं रंग बदलते लोग शायरी, यह ऐसे लोगों पर शायरी है जो अपने मतलब को देख कर चलते हैं और वक़्त आने पर अपना रंग बदल कर बदल जाते हैं।

ऐसे लोगों से हमेशा दूरी बना कर रखनी चाहिए ऐसे लोग आपके अच्छे वक़्त में तो आपके साथ रहेंगे मगर जैसे ही आप पर कोई मुसीबत आएगी तो यह आपका साथ छोड़ जाएंगे।

 

रंग बदलते लोग शायरी | Rang Badalte Log Quotes

 

करके वफ़ा के वादे बेवफा हो जाते हैं

लोग इस तरह कुछ पल में रंग बदल जाते हैं

Karke wafa ke vaade bewafa ho jate hain

Log is tarah kuch pal mein rang badal jate hain

गिरगिट ने भी आत्महत्या कर ली यह कह कर

के मुझसे ज्यादा रंग तो लोग बदलते हैं

Girgit ne bhi aatmhatya kar li yeh keh kar

Ke mujhse jyada rang toh log badalte hain

बच कर रहना लोगों से

रोज़ इन लोगों के रंग बदल जाते हैं

जब तक मतलब है रहेंगे साथ फिर

इनके बात करने के भी ढंग बदल जाते हैं

Bach kar rehna logon se

Roz in logo ke rang badal jate hain

Jab tak matlab hai rahenge saath mein

Inke baat karne ke bhi dhang badal jate hain

रंग बदलते लोग शायरी

 

कहते हैं हम तुम्हारे यार हैं

हर मुश्किल में तुम्हारे साथ हैं

मगर मुश्किल वक़्त में ना आते हैं

यह लोग इस तरह रंग बदल जाते हैं

Kehte hain hum tumhare yaar hain

Har mushkil mein tumhare saath hain

Magar mushkil waqt mein na aate hain

Yeh log is tarah rang badal jaate hai

गिरगिट की तरह रंग बदल कर

दिखा जाते अपनी औकात हैं

जो कभी हर पल कहते थे

के हम हमेशा तुम्हारे साथ हैं

Girgit ki tarah rang badal kar

Dikha jate apni aukaat hai

Jo kabhi har pal kehte the

Ke hum hamesha tumhare saath hain

क्यों तुमने धोखा देकर अपना ढंग बदल लिया

कुछ दिन ही दूर रहकर तुमने तो रंग बदल लिया

Kyun tumne dhokha dekar apna dhang badal liya

Kuch din hi door rehkar tumne toh rang badal liya

बेवफा थी वो चालाकी से बेवफ़ाई करती रही

वो मेरे बदलते हालात देख अपने रंग बदलती रही

Bewafa thi woh chalaki se bewafai karti rahi

Woh mere badalte halat dekh apne rang badalti rahi

रंग बदलते लोग शायरी

 

शातिर सी वो बहुत चालाकी दिखाती है

इश्क़ में बर्बाद कर वो रंग बदल जाती है

Shatir si woh bahut chalaki dikhati hai

Ishq mein barbad kar woh rang badal jati hai

बुरा वक्त देख कर लोग रंग बदल जाते हैं

उनके मिलने जुलने के भी ढंग बदल जाते हैं

जब नहीं रहता आपके पास कुछ उनके लिए

गिरगिट की तरह रंग बदल कर चले जाते हैं

Bura waqt dekh kar log rang badal jate hain

Unke milne julne ke bhi dhang badal jate hain

Jab nahi rehta aapke paas kuch unke liye

Girgit ki tarah rang badal kar chale jate hain

हमसे उन्होंने रिश्ता कुछ यूं तोड़ लिया

हमें बर्बाद कर अपने इश्क़ में

किसी और कि खातिर हमें छोड़ दिया

Humse unhone rishta kuch yun todd liya

Hume barbad kar apne ishq mein

Kisi aur ki khatir hume chhod diya

 

रंग बदलते लोग शायरी

हमसे तुम ऐसे दूर ना जाओ जान

ऐसे तुम अपने रंग बदल न जाओ जान

चाहे रहा नहीं कुछ हमारे पास तेरे लिए

फिर भी हम तेरे लिए दे देंगे अपने प्राण

Humse tum aise door na jao jaan

Aise tum apne rang badal na jao jaan

Chahe raha nahi kuch humare paas tere liye

Fir bhi hum tere liye de denge apne praan

 

रंग बदलते लोग

 

जैसे जैसे दिन गुज़रते जा रहे है,

वैसे वैसे कुछ लोग मेरे दिल से उतारते जा रहे है

Jaise jaise din guzarte jaa rahe hai

Waise waise kuch log mere dil se utarte jaa rahe hai

सफ़ेद रंग की तरह फितरत होती है कुछ लोगो की,

नए रंग में मिलते ही अपना रंग बदल लेते है।

Safed rang ki tarah fitrat hai kuch logo ki

Naye rang mein milte hi apna rang badal lete hai

मेरी हर राह पर ए खुदा बस

तू अपनी नज़र रखना

बदले चाहे हज़ार रंग जमाना

पर तू कभी नहीं बदलना

Meri har raah par ae khuda bas

Tu apni nazar rakhna

Badle chahe hazar rang zamana

Par tu kabhi nahi badlna

 

रंग बदलते लोग शायरी

हम कुछ गुना किए थे क्या

जो इस तरह बदल गए

तुम हमारे गुण तो बता देते

तुम्हारे बदलने से पहले हम बदल जाते

Hum kuch guna kiye the kya

Jo is tarah badal gaye

Tum humare gun toh bata dete

Tumhare badlne se pehle hum badal jate

गिरगिट खतरा देखकर रंग बदलता है

और इंसान मौका देखकर

Girgit khatra dekh kar rang badalta hai

Aur insaan mauka dekh kar

 

रंग बदलते लोग शायरी

मास्क तो बस एक बहाना है असल में

इंसान कुदरत को मुंह दिखाने के लायक नहीं रहा

Mask toh bas ek bahana hai asal mein

Insan kudrat ko munh dikhane ke layak nahi raha

 

दोस्तों यह रंग बदलते लोग शायरी आपको कैसी लगी हमें कमेंट कर ज़रूर बताएं, और यदि आपकी ज़िंदगी मे भी कोई ऐसा शख्स है तो उसे दिखाने के लिए आप इस शायरी को अपने व्हाट्सएप स्टेटस पर लगाएं।