30+ Matlabi Dost Shayari | New Gaddar Dost Status

In this article you will find Matlabi Dost Shayari and Gaddar Dost shayari, दोस्तों आपने दोस्ती पर बहुत सी शायरी पढ़ी और सुनी होगी लेकिन यह उससे थोड़ी अलग है क्योंकि यह शायरी गद्दार और धोखेबाज़ दोस्तों के बारे में है।

हमारी ज़िंदगी में बहुत दोस्त आते हैं कुछ ज़िन्दगी भर हमारे साथ रहते हैं और कुछ हमारी ज़िंदगी बर्बाद करके निकल जाते हैं, आज ऐसे ही कुछ दोस्तों पर शायरी लिखी है जो कहने को तो हमारे दोस्त होते हैं मगर असलियत में वो दुश्मन से भी ज्यादा खतरनाक होते हैं।

 

Matlabi Dost Shayari In Hindi

 

कभी किसी पर ज्यादा विश्वास मत करो “जानी”

यहां दोस्त भी धोखा दे दिया करते हैं

Kabhi Kisi Par Jayada Vishwas Mat Karo “Jaani”

Yahan Dost Bhi Dokha De Diya Karte Hain

 

मतलबी दोस्त शायरी

 

मोहब्बत से ज्यादा दोस्ती पर गुमान था

मेरा दोस्त मेरे लिए मेरी जान था

आखिर धोखा दिया उस दोस्त ने भी

जिसके लिए मै जान देने को तैयार था

Mohabbat Se Jyada Dosti Par Guman Tha

Mera Dost Mere Liye Meri Jaan Tha

Aakhir Dhokha Diya Us Dost Ne Bhi

Jiske Liye Main Jaan Dene Ko Teyar Tha

 

गद्दार दोस्त शायरी
गद्दार दोस्त शायरी

दोस्त बना कर वो खेल रचा रहा था

मेरी मोहब्बत को मुझसे छीन कर अपनी बना रहा था

दोस्ती नाम को भी वो कलंक लगा रहा था

मै उस बेवफा दोस्त के धोखे में आ रहा था

Dost Bana Kar Woh Khel Racha Raha Tha

Meri Mohabbat Ko Mujhse Chheen Kar Apni Bana Raha Tha

Dosti Naam Ko Bhi Woh Kalank Lagaa Raha Tha

Main Us Bewafa Dost Ke Dhokhe Me Aa Raha Tha

 

matlabi dost shayari

 

दोस्त पर था विश्वास उसने तोड़ दिया था

अपनी मोहब्बत को हमने दोस्त के लिए छोड़ दिया था

उस दोस्त ने भी हमसे धोखा किया

जिसके लिए हमने अपनी मोहब्बत को बेवफा बोल दिया था

Dost Par Tha Vishvas Usne Todd Diya Tha

Apni Mohabbat Ko Humne Dost Ke Liye Chhod Diya Tha

Us Dost Ne Bhi Humse Dhokha Kiya

Jiske Liye Humne Apni Mohabbat Ko Bewafa Bol Diya Tha

 

मतलबी दोस्त

 

दोस्तों के साथ हम खुश रहा करते थे

मोहब्बत से पहले दोस्तों को वक़्त दिया करते थे

उन दोस्तों के साथ हम हर रोज़ पिया करते थे

आखिर बेवफा निकले दोस्त जिनके लिए हम जिया करते थे।

Doston Ke Sath Hum Khush Rahaa Karte The

Mohabbat Se Pehle Doston Ko Waqt Diya Karte The

Un Dosti Ke Sath Hum Har Roz Piya Karte The

Akhir Bewafa Nikle Dost Jinke Liye Hum Jiya Karte The

Gaddar dost shayri

धोखेबाज़ दोस्त
धोखेबाज़ दोस्त

दोस्ती करने से पहले

दोस्त को आज़माना चाहिए

यहाँ दोस्ती के नाम पर

लोग बर्बाद कर दिया करते हैं

Dosti Karne Se Pehle

Dost Ko Aazmana Chahiye

Yaha Dosti Ke Naam Par

Logg Barbad Kar Diya Karte Hain

 

मतलबी लोग शायरी

 

वो कहती थी तुम्हारे दोस्त सही नहीं

हमने उसे छोड़ दिया था

आखिर फिर याद आई उसकी

जब दोस्तों ने हमें दगा दिया था

Woh Kehti Thi Tumhare Dost Sahi Nahi

Humne Usey Chhod Diya Tha

Aakhir Fir Yaad Aayi Uski

Jab Doston Ne Humein Dagaa Diya Tha

 

कुछ दोस्त आपके लिए आपकी जान होते हैं

लेकिन वो ऊपर से आपके और दिल से शैतान होते हैं

Kuch Dost Aapke Liye Apni Jaan Hote Hai

Lekin Woh Uper We Aapke Aur Dil Se Shaitan Hote H

matlabi dosti shayari

 

मतलबी दोस्त शायरी
मतलबी दोस्त शायरी

जो खुशियों में शामिल होते थे

आखिर उन्होंने गम की बरसात की

जब हम मुसीबत में थे तो

किसी दोस्त ने भी ना हमसे बात की

Jo Khushiyon Mein Shamil Hote The

Aakhir Unhone Gam Ki Barsaat Ki

Jab Musibat Mein The Toh

Kisi Dost Ne Bhi Naa Humse Baat Ki

 

आखिर बुलाने पर भी नहीं आए वो दोस्त

जो कहते थे बुरे वक्त में याद करना जान लूटा देंगे

Aakhir Bulane Par Bhi Nahi Aaye Wo Dost

Jo Kehte The Bure Waqt Mein Yaad Karna

 

Gaddar Dost Shayari / Status / Quotes

 

उस बेवफा ने एक दोस्त बनाया था

हमसे ज्यादा उसको चाहा था

उस दोस्त की बातों में आकर छोड़ दिया हमें

जिसको हमने अपनी जान बनाया था

Us Bewafa Ne Ek Dost Banaya Tha

Humse Jyada Usko Chaha Tha

Us Dost Ki Baaton Mein Aakar Chhod Diya Humein

Jisko Humne Apni Jaan Banaya Tha

 

gaddar dost shayari in hindi
Gaddar Dost Shayari In Hindi

कुछ लोगों की बातों में वो आया था

उसको हमारे सच्च पर यकीन नहीं आया था

दोस्ती तोड़ गया किसी के बहकावे में आकर

मेरे दोस्त ने मुझे धोखेबाज बताया था

Kuch Logon Ki Baaton Mein Wo Aaya Tha

Usko Humare Sach Par Yakin Nahi Aaya Tha

Dosti Todd Gaya Kisi Ke Bahkawe Mein Aakar

Mere Dost Ne Mujhe Dhokhebaj Bataya Tha

 

gaddar dost status

 

सच्चा वफादार दोस्त भी किस्मत की बात है

आज के वक़्त में सबके दिल में पैसे की प्यास है

जो हमारे बुरे वक्त में भी ना छोड़े साथ

हमको एक ऐसे दोस्त की तलाश है

Sacha Wafadar Dost Bhi Kismat Ki Baat Hai

Aaj Ke Waqt Mein Sabke Dil Mein Paison Ki Pyas H

Jo Humare Bure Waqt Mein Bhi Naa Chhode Saath

Humko Ek Aise Dost Ki Talash Hai

 

gaddar dost shayari

 

वो रोता हुआ हमारे पास आया था

हमने गले लगा कर उसे समझाया था

आखिर धोखा किया उसने हमारे साथ

जिसको हमने अपना दोस्त बनाया था

Woh Rota Hua Humare Paas Aaya Tha

Humne Gale Lagaa Kar Usey Samjhaya Tha

Akhir Dhokha Kiya Usne Humare Sath

Jisko Humne Apna Dost Banaya Tha

 

gaddar dost status
Gaddar Dost Status

जो मेरे साथ बैठ कर खाना भी खाता है

जो मुझे अपना भाई बताता है

वो मेरा धोखेबाज दोस्त है

जो गैरों के सामने मुझे बुरा बताता है

Jo Mere Sath Bethh Kar Khana Bhi Khata Hai

Jo Mujhe Apna Bhai Batata Hai

Wo Mera Dhokhebaj Dost Hai

Jo Gairon Ke Samne Mujhe Bura Batata Hai

 

gaddar dost shayari 2021

 

दोस्ती करके कोई दगा दे गया

किसी पर ना कर पाएं विश्वास कभी

ऐसी वो सीख दे गया

Dosti Karke Koi Dagaa De Gaya

Kisi Par Naa Kar Paayein Vishwas Kabhi

Aisi Woh Seekh De Gaya

 

दिल से दिल मिलाया था

हमने अपना हर राज अपने दोस्त को बताया था

धोखा मिला आखिर उसी के हाथ से

जिस दोस्त को हमने जीना सिखाया था

Dil Se Dil Milaya Tha

Humne Apna Har Raaz Apne Dost Ko Bataya Tha

Dhokha Mila Aakhir Uske Hath Se

Jis Dost Ko Humne Jeena Sikhaya Tha

 

दोस्ती में धोखा शायरी

 

matlabi dosti status
Matlabi Dosti Status

कौन कहता है कि सिर्फ मोहब्ब्त बेवफा होती है

हमने दोस्ती में भी धोखे खाए है

Kon Kehta Hai Ki Sirf Mohabbat Bewafa Hoti Hai

Humne Dosti Me Bhi Dhokhe Khaye Hai

 

matlabi dost shayari in hindi
matlabi dost shayari in hindi

इश्क़ मोहब्बत हमने कभी किया ही नहीं

किसी को हमने धोखा कभी दिया ही नहीं

कुछ दोस्त थे जो बीच रास्ते छोड़ गए

और कुछ ने तो साथ दिया ही नहीं

Ishq Mohabbat Humne Kabhi Kiya Hi Nahi

Kisi Ko Humne Dhokha Kabhi Diya Hi Nahi

Kuch Dost The Jo Beech Raste Chhod Gaye

Aur Kuch Ne Toh Saath Diya Hi Nahi

 

मुहब्बत रूठ जाए तो कोई बात नहीं

दोस्त को ना रूठने दिया था कभी

छोड़ दिया उसने ही साथ हमारा

जिस दोस्त के लिए मुहब्बत को ठुकराया था कभी

Mohabbat Rooth Jaye Toh Koi Baat Nahi

Dost Ko Naa Ruthne Diya Tha Kabhi

Chhod Diya Usne Hi Saath Humara

Jis Dost Ke Liye Mohabbat Ko Thukraya Tha Kabhi

Dhokhebaj Dost shayari

gaddar dost
gaddar dost

यारा तेरी यारी पर यह दिल कुर्बान था

मगर तू दोस्त नहीं गद्दार यार था

Yaara Teri Yari Par Yeh Dil Qurban Tha

Magar Tu Dost Nahi Gaddar Yaar Tha

 

मै हर काम में उसका साथ निभाता था

कोई बोलता था उसके बारे में बुरा तो

मै उसके बारे में ना सुन पाता था

वो मेरे कत्ल की तैयारी में था

जिस दोस्त को मै अपना भाई बताता था

Main Har Kaam Mein Uska Saath Nibhata Tha

Koi Bolta Tha Uske Bare Me Bura To

Main Uske Bare Me Naa Sun Paata Tha

Woh Mere Qatal Ki Tayari Mein Tha

Jis Dost Ko Main Apna Bhai Batata Tha

Gaddar yaar shayari

वही जिदंगी थी बस जो बीत गयी

कुछ लम्हें जो गुज़ारे दोस्तों के साथ थे

Wahi Zindagi Thi Bas Jo Beet Gayi

Kuch Lamhein Jo Guzare Doston Ke Sath The

 

इस शायरी को पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद, हम उम्मीद करते हैं कि Gaddar Dost Shayari आपको पसंद आई होगी।

 

Read More:

 घटिया लोगों पर शायरी

50+ मतलबी शायरी

नीच लोगों पर शायरी

Leave a Comment