तहलका शायरी | 50+ Best Tahalka Shayari In Hindi

तहलका शायरी Tahalka Shayari

मित्रो हम आपके सामने पेश कर रहे हैं दमदार तहलका शायरी, इस ब्लॉग पोस्ट में आपके साथ attitude तहलका शायरी शेयर की जाएगी। हमें उम्मीद है कि आपको यह शायरी पसंद आएगी और आप इस शायरी को अपने दोस्तों मित्रों के साथ ज़रूर शेयर करेंगे।

तहलका मचाने के लिए यह शायरी आप अपने स्टेटस पर लगा सकते हो।

 

भीड़ में खड़ा होना मकसद नहीं है मेरा, 

बल्कि भीड़ जिसके लिए खड़ी है

वह बनना है मुझे….

तहलका शायरी फ़ोटो
तहलका शायरी फ़ोटो

हम खराब लोगों में एक खूबी है

हम मुसीबत में काम आते हैं

और जहां भी जाते हैं तहलका मचाते हैं।।

 

ना जीने दूंगा ना मरने दूंगा उसे

उसने पंगा मुझसे लिया है

अब तो तहलका मचाते हुए

कहीं का नहीं छोडूंगा उसे।।

 

औकात की बात मत कर ऐ दोस्त,

लोग तेरी बन्दूक से ज्यादा

मेरी आँखों से डरते हैं।।

 

अपना भला कौन क्या बिगाड़ेेगा,

अपनी तो किस्मत उसने लिखी है,

जिसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता।।

 

हम बदमाशी के स्टूडेंट है, हम समझते नहीं है,

अपने दुश्मनो को सीधा जान से मर देते हैं।।

Read Also👇

105+ रॉयल स्टेटस इन हिंदी 2 line [2022]

तहलका शायरी | Tahalka Shayari h2

 

ज़िंदगी बहुत शांतिमयी ढंग से चल रही थी

फिर ज़िंदगी में वो आयी और तहलका मचा गया

तहलका शायरी फ़ोटो
तहलका शायरी फ़ोटो

मुझे क्या डराएगा मौत का मंजर

हमने तो जन्म ही कातिलों की बस्ती में लिया है।।

 

जलने लगा है ज़माना सारा,

क्योंकि चलने लगा है नाम हमारा

 

हमसे पंगा ना ले तेरी गलियों में तहलका मचा देंगे

जहाँ भी भागेगा वहीं से ढूंढ कर तेरी जला देंगे।।

 

माचिस तो यूँ ही बदनाम है हुजुर,

हमारे तेवर तो आज भी तहलका मचाते हैं।।

 

अक्कड़ में रहते हैं तो तेरा क्या जा रहा है

हमारे में हिम्मत है इसलिए इतना attitude आ रहा है

तू काहे अपनी फालतू में जला रहा है।।

Read Also👇

50+ Best Killer Shayari In Hindi | Killer Attitude Shayari

Attitude तहलका शायरी

 

Attitude एक नशा है पगली😵 और

मेरे बाप की इस नशे की फैक्ट्री का

एकलौता वारिस मैं हूँ….

तहलका शायरी
जबरदस्त तहलका शायरी

अकड़ तोड़ दू तेरी कुछ इस तरह,

बाद में शायद खुद को ना पहचान पाएगा

घमंड भी तेरा चूर चूर होगा जल्दी ही

और किससे भिड़ा था ये भी जान जाएगा

 

कर नहीं पाते हमारी बराबरी जो

वो हमें बदनाम कर रहे हैं

सुना है मेरे दुश्मन मिलकर मुझे

मारने के लिए प्लान तैयार कर रहे हैं

 

भाई बोलने का हक मैंने

सिर्फ दोस्तों को दिया है,

वरना दुश्मन हमे आज भी

बाप के नाम से जानते है

 

हम अपने तेवर से ही आग लगाते हैं

लोगों कि अपने स्टाइल से जलाते हैं

जो भी पंगा लेता है हमसे बेवजह

फिर उसको नरक का रास्ता दिखाते हैं।।

 

झुका दे जो ऐसा कोई पैदा हो नहीं पाया

जिसने पंगा लिया हमसे, कहाँ गायब हुआ

फिर उसका यह पता चल नहीं पाया।।

 

Aag तहलका शायरी

 

हमें देख कर जलती है दुनिया सारी

तहलका मचाना तो आदत है हमारी

तहलका शायरी

जिस दिन हमारा दिमाग हो जाएगा खराब

तेरी गलियों में तहलका मचा देंगे

जहाँ से वापस लौट कर कोई नहीं आता

तुम्हें ऐसी जगह पहुंचा देंगे।।

 

मेरा दिमाग सनक गया तो बच नहीं पाओगे

इसलिए सर को झुका कर के निकल जाओ

अगर जीना चाहता है चार दिन

तो अभी अपनी जान बचाओ

 

हम थोड़ी सी स्टाइल क्या मारे

दुश्मन की आँखे बढ़ी हो गए

अभी तो एंट्री मारी है

आगे आगे देखो होता है क्या।

 

खौफ ऐसा हमारा उनके दिल में छा गया

हमें देखते ही उन्हें मिर्गी का दौरा आ गया 🤣

 

पंगा मत लो मुझसे बाद में बहुत पछताएगा

फिर पैंट गीली करता फिरेगा जब हमें जान जाएगा

 

जबरदस्त तहलका शायरी

 

Attitude का अंदाज़ यही से लगा लो

तुम Player बनना चाहते हो

और मै Game Changer… 

जबरदस्त तहलका शायरी

ये फ़िज़ूल की धमकियाँ हमें ना दे बेटा,

क्योंकि कुत्तों के लश्कर से शेर कभी डरा नहीं करते।।

 

हम भी नवाब है,

लोगो की अकड़ धुएं की तरह उड़ाकर,

औकात सिगरेट की तरह छोटी कर देते है।।

 

दहशत गोली से नही 

दिमाग से होती है,

और दिमाग तो हमारा

बचपन से ही खराब है… 

 

लोगो ने हमें सिर्फ काम के लिए इस्तेमाल किया,

क्यूंकि उनका काम था और हमारा नाम था।।

 

ज़िन्दगी की राहों में ऐसा अक्सर होता है,

फैसला जो मुश्किल हो वो ही बेहतर होता है।।

 

तहलका 2 line शायरी

 

कभी जाकर के देखना

फोटो लगी है थाने में,

शेर जैसा जिगरा चाहिए

तेरे बाप को हाथ लगाने में

तहलका शायरी 2 line

सबको अच्छे लगना जरूरी नहीं , 

किसी की आँखों मे खटकना भी जरूरी है

 

लोग कहते हैं कि मेरा भी समय आयेगा

मैं कहता हूं कि मेरा समय मैं ख़ुद लाऊंगा

और फिर पूरा तहलका मचाऊंगा।।

 

क्या कहाँ मेरा खोफ नही है

नशे में हो या जीने के शोक नही है।।

 

मेरी किस्मत को परखने की गुस्ताखी मत करना

पहले भी कई तूफानों का रुख मोड़ चुका हूँ

और तेरे जैसों की अकड़ को तोड़ चुका हूँ

 

हम जैसे सिरफिरे ही इतिहास रचते हैं

समझदार तो केवल इतिहास पढ़ते हैं।

 

तहलका शायरी 2 लाइन

 

चलो आज फिर थोडा मुस्कुराया जाये,

बिना माचिस के तहलका मचाया जाये   

 

अंदाज़ तो हमारा भी, खतरनाक है पगली😵

जिसको भुला दिया एक बार,

तो समझो भुला दिया।।

 

हमको मिटा सके यह ज़माने में दम नहीं

हमसे ज़माना ख़ुद है ज़माने से हम नहीं।।

 

हम में अकड़ है गुरुर है

फिर भी रहमत देखो रब की

हमे चाहने के लिए सब मजबूर है।।

 

तेरे दिल और दिमाग में खौफ भर दूंगा

मजबूर ना कर मुझे वरना दुनिया से गायब कर दूंगा।।

 

दोस्त थे इसलिए तुम्हें छोड़े जा रहा हूँ

दुश्मनी ना कर अभी भी समझा रहा हूँ

 

सोच कर मेरे बारे में कांपने लगते हैं जो

वो लोगों के सामने मेरी बुराई कर रहे हैं।।

 

मेरे नाम के चर्चे उसके शहर में होते हैं

वो इस बात से जलते हैं और रोते हैं।।

 

लोग कहते हैं कि सुधर जाओ वरना

ज़िंदगी रूठ जायेगी,

हम कहते है, ज़िंदगी तो वैसे भी रूठी है

पर हम सुधर गए तो

हमारी पहचान रूठ जायेगी।।

 

दोस्तों यदि आपको यह तहलका शायरी पसन्द आयी तो हमें नीचे कमेंट करके ज़रूर बताएँ। इस शायरी को आप अपने व्हाट्सएप व फेसबुक स्टेटस पर लगा कर ज़रूर शेयर करें धन्यवाद। “तहलका” शायरी शब्द का अर्थ जानने के लिए यहाँ क्लिक करें 👉 तहलका शब्द का अर्थ