20+ Garam Shayari ~ new गर्म शायरी

Garam shayari

We are presenting to you Garam shayari. We hope you will like this गर्म करने वाली शायरी, गरमा गरम शायरी फ़ोटो और बदन की आग शायरी। यहाँ लिखी गयी सभी शायरियां सोशल मीडिया के अलग अलग प्लेटफॉर्म से ली गयी हैं।

If you like this garam shayari then you must share this shayari with your friends, boyfriend and girlfriend.

 

बदन की आग शायरी ~ Garam Shayari
बदन की आग शायरी ~ Garam Shayari

लेटा कर बिस्तर पर तुमको

तेरी ज़ुल्फ़ों से खेलूंगा

लगा कर इश्क़ की आग

फिर तुम्हें जी भर पेलूँगा

 

Leta kar bistar par tumko

Teri zulfon se khelunga

Laga kar ishq ki aag

Fir tumhe jee bhar pelunga

 

आ तेरे दिल में लगी आग बुझाता हूँ

तेरे होंटों को चूम में प्यार जताता हूँ

 

Aa tere dil mein lagi aag bujhata hu

Tere honton ko chum main pyar jatata hu

 

होंटों को तेरे चुम कर में खो जाता हूँ

तेरा हुस्न देख कर पागल हो जाता हूँ

 

Honton ko tere chum kar main kho jata hu

Tera husn dekh kar pagal ho jata hu

 

तेरे जिस्म की लगी आग को बुझा दूंगा

मेरी बाहों में आओ तुम्हें प्यार दूंगा

 

Tere jism ki lagi aag ko bujha dunga

Meri baahon mein aao tumhe pyar dunga

 

तुझको बाहों में कस कर

इश्क़ के समंदर में डूब जाऊं

आ तेरे इश्क़ की गर्मी को आज

अपने इश्क़ से बुझाऊँ

 

Tujhko bahon mein kas kar

Ishq ke samandar mein doob jau

Aa tere ishq ki garmi ko aaj

Apne ishq se bujhau

 

Read More:👇

 

गर्म करने वाली शायरी ~ Garam Shayari

 

गरमा गरम शायरी फ़ोटो _ garam shayari
गरमा गरम शायरी फ़ोटो _ garam shayari

दस मिंट की मेहनत फिर नों महीने का इंतेज़ार

बस यही तो है शादी के बाद का प्यार।।

 

10 minute ki mehnat fir 9 mahine ka intezaar

Bas yahi toh hai shadi ke baad ka pyar

 

कल तक वो मेरी जली हुई सिगरेट बुझाया करती थी

आज कमाल तो देखो वो लोगों की प्यास बुझाती है

 

Kal tak woh meri jali huyi cigarette bujhaya karti thi

Aaj kamaal toh dekho woh logon ki pyas bujhati hai

 

मुस्कुराते हुए जो लोग ज़िंदगी में आते हैं

फिर वही ज़िंदगी के लव डे लगा कर चले जाते हैं

 

Muskurate huye jo log zindagi mein aate hai

Fir wahi zindagi ke love day laga kar chale jate hai

 

वो क्या दर्द समझेगी मेरे सीने का

उसे तो शोंक चढ़ा है बंदी बनके जीने का

 

Woh kya dard samjhegi mere seene ka

Usey toh shonk chadha hai bandi banke jeene ka

 

कामाल का है तेरी इन आँखों में नूर

फिर भी क्यों है तुम्हें इतना गुरूर

 

Kamaal ka hai teri in aankhon mein noor

Fir bhi kyun hai tumhe itna guroor

 

देखो जान मै तेरे लिए फूल लाया हूँ

मै तेरे दिल में लगी आग बुझाने चला आया हूँ

 

Dekho jaan main tere liye phool laya hu

Main tere dil mein lagi aag bujhane aaya hu

 

बदन की आग शायरी ~ Garam Shayari

 

गर्म करने वाली शायरी ~ Garam Shayari
गर्म करने वाली शायरी ~ Garam Shayari

तुझे दिल मे बसा कर रखना है

तेरे बदन का रस चखना है

 

Tujhe dil mein basaa kar rakhna hai

Tere badan ka rass chakhna hai

 

जिसके अंदर भी है घमंड

वो मुँह में ले लो मेरा ___

 

Jiske andar bhi hai ghamand

Woh muh mein le lo mera ___

 

मालूम सबको है कि जिंदगी बेहाल है

फिर भी चादरमोड़ पूछते हैं क्या हाल है

 

Maloom sabki hai ki zindagi behaal hai

Fir bhi chadarmod puchte hai kya haal hai

 

गैरों ने नसीहत दी और अपनों ने दिया धोखा

तुझसे मिलकर मुझे तुमसे प्यार करने का मिला मौका

 

Gairon ne nasihat di aur apno ne diya dhokha

Tujhse milkar mujhe tumse pyar karne ka mila moka

 

बस इतना ही कहा था कि बरसों से प्यासे हैं हम

उसने होंटों पर होंट रख कर खामोश कर दिया

 

Bas itna hi kaha tha ki barso se pyase hai hum

Usne honton par hont rakh kar khamosh kar diya

 

धड़कनों को थाम कर रखना क्योंकि

अगर हम पास आ गए तो खुद को संभाल नहीं पाओगे

 

Dhadkano ko thaam kar rakhna kyunki

Agar hum paas aa gaye toh khud ko sambhal nahi paoge

 

गरमा गरम शायरी फ़ोटो

 

garam shayari photo
garam shayari photo

पूछा जब मैंने मेरी महबूबा से

के आज मीठे में क्या है

उसने शर्मा कर मेरी उंगली

अपने होंटों पर रख दी

 

Puchha jab maine meri mehbuba se

Ke aaj meethe mein kya hai

Usne sharma kar meri ungli

Apne honton par rakh di

 

अर्ज़ किया है

के यूँ ना किसी के दिल से खेलो

यूँ ना किसी के दिल से खेलो

काम ऐसा करो के

उसकी सहेलियां भी बोले मेरी ले लो

 

Arz kiya hai

Ke yu na kisi ke dil se khelo

yu na kisi ke dil se khelo

Kaam aisa karo ke

Uski saheliyan bhi bole meri le lo

 

तेरे हुस्न को अपनी बाहों में छुपा लूँ

आओ मै तुम्हें जी भर कर प्यार दूं

 

Tere husn ko apni bahon mein chhupa lu

Aao main tumhe jee bhar kar pyar du