10+ Heartbreaking Alag Hona Shayari » Loyal Shayar

10+ Heartbreaking Alag Hona Shayari

Friends, today I have brought a very good Shayari for you. The name of this shayari is Alag Hona Shayari, we hope you will like this shayari very much.

दोस्तों क्या आप alag hona shayari ढूंढ रहे हो, यदि आप ढूंढ रहे हो तो आप बिलकुल सही जगह पहुंचे हो क्योंकि आपको यहाँ मिलेगी अलग होना शायरी तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं।

 

Alag Hona Shayari | अलग होना शायरी

 

बात बात पर झूठ सुनाता था इसलिए उसे खोना पड़ा

उसकी बेवफाई के कारण उससे अलग होना पड़ा

Baat baat par jhooth sunata tha isliye usey khona pada

Uski bewafai ke kaaran usse alag hona pada

 

अलग होना शायरी
अलग होना शायरी

बदलते वक़्त के साथ एक दूसरे से जुदा हम हो गए

पता ही ना चला कब दोनों के रास्ते अलग हो गए

Badlte waqt ke saath ek dusre se judaa hum ho gaye

Pata hi naa chala kab dono ke raste alag ho gaye

 

Alag hone ki shayari

 

तेरी बेवफाई के चलते यह दूरियाँ बढ़ती जा रही हैं

हमारे रिश्ते में हर रोज़ नई दरारें पड़ती जा रही हैं

Teri bewafai ke chalte yeh duriyan badhti jaa rahi hai

Humare rishte mein har roz nayi derarein padti jaa rahi hai

 

जब वो दुनियाँ की भीड़ में खोने लगा

हमसे फिर धीरे धीरे वो अलग होने लगा

Jab woh duniya ki bheed mein khone laga

Humse fir dhire dhire woh alag hone lata

 

Alag shayari

 

मालूम ना था अलग तुमसे होना पड़ेगा

अपने इश्क़ पर बहुत यकीन था हमें

Maloom naa tha alag tumse hona padega

Apne ishq par bahut yakin tha hume

 

एक ना हम हो पाए लाख कोशिशें करने बाद

अलग हो गए एक पल में थोड़ा दूर चलने बाद

Ek naa hum ho paaye lakh koshishein karne baad

Alag ho gaye ek pal mein thoda door chalne baad 

 

Alag hona shayari

 

बहुत से अपनों को अब तक मैं खोया हूँ

ना चाहते भी बहुतों से अलग होया हूँ

Bahut se apno ko ab tak main khoya hun

Naa chahte bhi bahuton se alag hoya hun

 

थोड़ी आँखें नम सी होती है

थोड़ा सा रोज़ रात रोती है

फिर हम कैसे कह दें

तुमसे अलग रह खुशी होती है

Thodi aankhein nam si hoti hai

Thoda sa roz raat roti hai

Fir hum kaise keh de

Tumse alag reh khushi hoti hai

 

पहली दफा मैं तेरी खातिर रोया हूँ

तुमसे अलग होकर ना सोया हूँ

तुझे खो कर ऐसा लगता है

जैसे ज़िंदगी से सब कुछ खोया हूँ

Pehli dafaa main teri khatir roya hu

Tumse alag hokar naa soya hu

Tujhe kho kar aisa lagta hai

Jaise zindagi se sab kuch khoya hu

 

Alag hona shayari

 

Alag Hone Ki Shayari
Alag Hone Ki Shayari

अकेला बैठ तन्हाई में अब खुद से बातें करता हूँ

तुमसे अलग होने के बाद तेरी यादों में मरता हूँ

Akela beth tanhayi mein ab khud se baatein karta hu

Tumse alag hone ke baad teri yaadon mein marta hu

 

यह तो दुनियाँ के रीति रिवाजों की वजह से पड़ता है अलग होना

वर्ना कौन आशिक चाहगे अपनी मोहब्बत से बिछड़ कर हर रोज़ रोना

Yeh toh duniyan ke reeti riwazo ki wajah se padta hai alag hona

Warna kon aashiq chahega apni mohabat se bichhad kar rona

 

वो तो उसकी खुशी थी हमसे अलग होने में इसलिए चुप रहा

वरना उसे पाने की खातिर हम तबाही मचा देते पूरे शहर में

Woh toh uski khushi thi humse alag hone mein isliye chup

Warna usey paane ki khatir hum tabahi macha dete poore sheher mein

 

Alag hona shayari

 

टाइमपास था इश्क़ उसका, एक दिन तो उसको हमने खोना ही था

पसंद था उसे गैरों का साथ, एक दिन तो हमें अलग होना ही था

Timepass tha ishq uska, ek din toh usko humne khona hi tha

Pasand tha usey gairon ka saath, ek din to hume alag hona hi tha

 

मुझसे अलग होकर खुश हो ऐसा तुम दिखा रहे हो

हमसे अलग होते वक़्त तुम मुस्कुरा रहे हो

मगर तुम अपनी नज़रें हमसे क्यों चुरा रहे हो

पलकों के नीचे तुम यह पानी क्यों छुपा रहे हो

Mujhse alag hokar khush ho aisa tum dikha rahe ho

Humse alag hote waqt tum muskura rahe ho

Magar tum apni nazrein humse kyun chura rahe ho

Palkon ke niche tum yeh paani kyun chhupa rahe ho

Alag hona shayari

Hindi Shayari Pathar Dil