Mayusi Shayari In Hindi 2021 | मायूसी पर शायरी » Loyal Shayar

Mayusi Shayari In Hindi 2021 | मायूसी पर शायरी

Mayusi Shayari: दोस्तों आज हम आपके लिए लेकर आये हैं मायूसी पर शायरी यानी उदास होने वाली शायरी हम आपके सामने पेश कर रहे हैं, यदि आप भी किसी से धोखा खाने के बाद मायूस और उदास है तो यह शायरी आपके लिए ही है क्योंकि इससे आपके दिल मे उठ रहे दर्द ए दिल को राहत जरूर मिलेगी।

आप इस शायरी को आपने दोस्तों के साथ साँझा करके अपना दर्द उनके साथ साँझा कर सकते हो। जैसे कि आप जानते ही हो कि दर्द बांटने से दिल हल्का हो जाता है तो यह शायरी आपके दर्द ए दिल पर महरम का काम करेगी।

 

मायूसी पर शायरी | Mayusi Shayari in hindi

Mayusi par shayari
Mayusi par shayari

This is box title

तेरे बिना ना रात निकले ना ही दिन में कहीं चैन है

तेरे बिना हम तड़पते है हर दम हम खुश हैं यह तेरा वहम है

Tere bina naa raat nikle naa hi din mein kahi chain hai

Tere bina hum tadapte hai har dam hum khush hai yeh tera vaham hai

 

This is box title

कभी मिलने का वादा करो हमसे

फिर बताएंगे दिल की एक एक बात

जब तुम शादी कर चली गयी थी

हमने कैसे बिताई तबसे एक एक रात

Kabhi milne ka vaada karo humse

Fir batayenge dil ki ek ek baat

Jab hum shaadi kar chali gayi thi

Humne kaise bitaayi tabse ek ek raat

 

Sad mayusi shayari

 

This is box title

मेरे हाथ में अपना हाथ रहने दो

यह जो बना है हमारा रिश्ता इसे साथ रहने दो

मुझे यूँ छोड़ कर जाने की बातें ना करो

मेरे दिल पर अपना तुम राज़ रहने दो

Mere haath mein apna haath rehne do

Yeh jo bana hai humara rishta isey saath rehne do

Mujhe yu chhod kar jaane ki baatein naa karo

Mere dil par apna tum raaz rehne do

 

This is box title

मेरी मायूसी की वजह ना पूछ

मैं तो तेरे बारे में सोच कर ही मायूस हो जाता हूँ

Meri mayusi ki wajah na puchh

Main toh tere bare mein soch kar hi mayus ho jaata hu

 

Mayusi Par Shayari

 

This is box title

कोई पूछता है उसके बारे में तो सब ठीक है बताता हूँ

फिर उसके ज़ख्मों के साथ पूरी रात रो कर बिताता हूँ

Koi puchta hai uske bare mein toh sab theek hai batata hu

Fir uske zakhmo ke saath poori raat rokar bitata hu

 

This is box title

मेरे साथ दूर तक चलने के वो वादे करता रहा

मेरे ज़ख्मों को भरने के वो दिलासे देता रहा

पीठ पीछे हमारी उसने ऐसा खंजर चलाया

के हम समझ ही ना पाए वो दगा करता रहा

Mere saath door tak chalne ke woh vaade karta rha

Mere zakhmo ko bharne ke woh dilase deta raha

Peeth peeche humari usne aisa khanzar chalaya

Ke hum samjh hi naa paaye woh daga karta raha

 

Mayusi shayari in hindi

 

This is box title

वो दूर बैठा मुझे कहीं बुलाता है

उसका चेहरा मुझे सपनों में नज़र आता है

वो मज़बूरी में चला तो गया हमें छोड़ कर

पर शायद अब भी भूल ना पाता है

Woh door betha mujhe kahi bulata hai

Uska chehra mujhe sapno mein nazar aata hai

Woh majboori mein chala toh gaya hamein chhod kar

Par shayad ab bhi bhool naa paata hai

 

Mayusi Shayari in hindi | मायूसी पर शायरी

 

This is box title

फ़र्ज़ मोहब्बत का वो कुछ ऐसे निभाते रहे

मुझसे दूर होकर भी वो मुझे चाहते रहे

जब जब भी दिल मेरा उसे भूलने लगता तो

वो ख़्वाबों में एक तस्वीर बन कर आते रहे

Farz mohabbat ka woh kuch aise nibhate rahe

Mujhse door hokar bhi woh mujhe chahte rahe

Jab jab bhi dil mera usey bhulne lagta toh

Woh khawabon mein ek tasveer ban kar aate rahe

 

Dard bhari mayusi shayari

 

This is box title

मैं ज़मीन पर रहने वाला उसके आसमान के सपने पूरे करना चाहता था

मैं एक छोटे से घर का लड़का उस बड़े घर की लड़की को बहुत चाहता था

Main zameen par rehne wala uske aasman ke sapne poore karna chahta tha

Main ek chhote se ghar ka ladka us bade ghar ki ladki ko bahut chahta tha

 

This is box title

नहीं रुकेंगे यह ठान कर उससे प्यार किया था

किसी आगे नहीं झुकेंगे और उसे खोने नहीं देंगे

हम हर लम्हां हर वक़्त तेरे दिल में रहेंगे

और कभी नहीं निकलेंगे तू निकालना चाहेगी तो भी

Nahi rokenge yeh thaan kar usse pyar kiya tha

Kisi agay nahi jhukenge aur usey khone nahi denge

Hum har lamha har waqt tere dil mein rahenge

Aur kabhi nahi nikalenge tu nikalna chahegi toh bhi

 

This is box title

अब वो पुराने रिश्ते सब धीरे धीरे छोड़ने लगा है

वो पुराने लोगों से नाता अब तोड़ने लगा है

उसे मिले हैं कुछ नए लोग बहुत चाहने वाले जानी

इसलिए वो अब तेरा भी दिल तोड़ने लगा है

Ab woh purane rishte sab dheere dheere chhodne laga hai

Woh purane logon se naata ab todne laga hai

Usey mile hai kuch naye logg bahut chahne wale jaani

Is liye woh ab tera bhi dil todne laga hai

 

This is box title

उसने दूर जाकर हमसे हमें रुला दिया

हम ना भूल सके उसने एक पल में भुला दिया

उसने मेरी जान को मुझसे ही जुदा किया

मेरे दिल को उसने मेरा रहने ना दिया

Usne door jakar humse humein rula diya

Hum naa bhool sake usne ek pal mein bhoola diya

Usne meri jaan ko mujhse hi judaa kiya

Mere dil ko usne mera rehne naa diya

 

This is box title

हमने उससे बिछड़ कर भी उसे चाहा है

हर एक लम्हां उसकी याद में बिताया है

हमने हर वक़्त उसको अपना बताया है

पर उसको हमपर कभी यकीन ना आया है

Usne usse bichhad kar bhi usey chaha hai

Har ek lamha uski yaad mein bitaya hai

Humne har waqt usko apna bataya hai

Par usko hum par kabhi yakin naa aaya hai

 

This is box title

वो धीरे धीरे मेरी ज़िंदगी मे आया और एकदम से जान बन गया

वो मेरे दिल और मेरे लबों की एक ज़ुबान बन गया

जो दिखती है इन लबों पर मुस्कुराहट वो इन लबों की मुस्कान बन गया

और जब हो गयी हमें उसकी आदत तो वो हमें छोड़ हमसे अनजान बन गया

Woh dheere dheere meri zindagi mein aaya aur ekdam se jaan ban gaya

Woh mere dil aur mere labon ki ek juban ban gaya

Jo dikhati hai in labon par muskurahat woh in labon ki muskan ban gaya

Aur jab ho gayi hume uski aadat toh woh humein chhod humse anjaan ban gaya

 

This is box title

मेरे दूर जाने पर तुम मायूस ना हो जाना

मुझे रुलाते रहते हो फिर तुम आंसू ना बहाना

मैं तो तुमसे दूर होकर जी। पाऊं या नहीं

पर तुम अपनी इस ज़िन्दगी को बर्बाद मत करना

Mere door jaane par tum mayus na ho jaana

Mujhe rulate rehte ho fir tum aansu naa bahana

Main toh tumse door hokar hee paun ya nahi

Par tum apni is zindagi ko barbad mat karna

 

This is box title

मेरे कदम के साथ कदम मिला कर चलता था

मेरे इश्क़ के सहारे जो इस दुनिया से लड़ता था

वो आज बिछड़ गया मुझसे जो मुझे अपना कहता था

Mere kadam ke saath kadam mila kar chalta tha

Mere ishq ke sahare jo is duniya se ladta tha

Woh aaj bichhad gaya mujhse jo mujhe apna kehta tha

 

Read Also: 

50+ Best तकदीर शायरी | तकदीर पर शायरी

Leave a Comment