Meri Maut Ke Baad Shayari | 101+ Maut Ka Intezar Shayari

Meri Maut ke baad Shayari, Maut Shayari in Hindi, Maut Ka Intezaar Shayari, Loyal Shayar

Meri Maut Ke Baad Shayari – Aapne Maut Lafz Par Bahut Sari Shayari Pehle Bhi Dekhi/Padhi Hogi Jo Alag Alag Writers Ne likhi Hogi, Is Maut Lafz Ka Istemal Karke Humne Bhi Kuch Shayari Likhi Hai Hum Umeed Karte Hai ki Yeh Shayari Aapko Pasand Aayegi.

दोस्तों आज हम आपके लिए Maut Shayari लेकर आये हैं जिसमें हम आपसे इस विष्य पर शायरी साँझा करेंगे। पर शायरी शुरू करने से पहले हम आपसे कहना चाहते हैं कि जिंदगी एक अनमोल उपहार है इसे ऐसे ही किसी के लिए व्यर्थ नहीं करना चाहिए।

हम जितनी देर तक जिंदा हैं हमें खुल कर जीना चाहिए और सुसाइड करने के बारे में तो कभी मन मे ख्याल भी लेकर नहीं आना चाहिए। यदि आप ज़िंदगी में किसी वजह से निराश भी हो जाते हैं तो हमें हिम्मत नहीं हारनी चाहिए क्योंकि ज़िंदगी को खुद से खत्म करने वाले कायर होते हैं।

Meri Maut Ke Baad Shayari

[web_stories title=”false” excerpt=”false” author=”false” date=”false” archive_link=”true” archive_link_label=”” circle_size=”150″ sharp_corners=”false” image_alignment=”left” number_of_columns=”1″ number_of_stories=”3″ order=”DESC” orderby=”post_title” view=”circles” /]

1.Meri Maut Ke Baad Shayari

Meri Maut Ke Baad Tum Mere Peeche Aaoge Kya

Saath Jeene Marne Ka Vaada Tum Nibhaoge Kya

मेरी मौत के बाद तुम मेरे पीछे आओगे क्या

साथ जीने मरने का वादा तुम निभाओगे क्या

 

2.Meri Maut Ke Baad Shayari

Meri Maut Ke Baad Wo Hi Rote Rahe Sabke Samne

Jinhone Meri Maut Ki Dua Mangi Thi

मेरी मौत के बाद वो ही रोते रहे सबके सामने

जिन्होंने मेरी मौत की दुआ मांगी थी।।

3.maut shayari in hindi

 

Sucide shayri in hindi
Meri maut ke baad shayari

इश्क़ मैं धोखा खा कर

बेवफा के पीछे मर ना जाना

ज़िंदगी तोहफा है खुदा का

इसे यूँ ही व्यर्थ कर ना जाना

Ishq Mein Dhokha Kha Kar

Bewafa Ke Peeche Mar Na Jana

Zindagi Tohfa Hai Khuda Ka

Isey Yu Hi Vyarth Kar Na Jana

 

4.

ज़िंदगी से हार कर कहीं मर ना जाना

मुसीबतों से लड़कर आगे बढ़ते जाना

Zindagi Se Haar Kar Kahi Mar Na Jana

Musibaton Se Ladkar Agay Badhte Jana

5.maut shayari in hindi

धोखा मिला तो दिल मर जाने का हुआ

पर अपनों का सोच कर मैं ज़िंदा रहा

Dhokha Mila Toh Dil Mar Jane Ka Hua

Par Apno Ka Soch Kar Main Zindga Raha

6.

लोग कहते हैं कि मौत सब कुछ ले जाती है

हम कहते हैं यह मौत ही है जो सुकूँ दे जाती है

Log Kehte Hai Ki Maut Sab Kuch Le Jati Hai

Hum Kehte Hai Yeh Maut Hi Hai Jo Sukoon De Jati Hai

7.maut shayari in hindi

तुझे मौत भी आ जाये तो अब हमें गम ना होगा

बेवफा के ज़िंदगी से चले जाने पर कुछ कम ना होगा

Tujhe Maut Bhi Aa Jaye Toh Ab Hume Gam Na Hoga

Bewafa Ke Zindagi Se Chale Jane Par Kuch Kam Na Hoga

8.

बताती तुम अपने दिल की बात तो जान भी वार देते

मुझे बर्बाद देख कर खुश थी तो खुद को ही मार लेते

Batati Tum Apne Dil Ki Baat Toh Jaan Bhi War Dete

Mujhe Barbad Dekh Kar Khush Thi Toh Khud Ko Hi Maar Lete

9. meri maut ke baad shayari

तेरी उन बातों को याद कर मैं तड़प जाता हूँ

सोचता हूँ ऐसे जीने से अच्छा क्यों ना मर जाता हूँ

Teri un baaton ko yaad kar main tadap jata hu

Sochta hu aise jeene se acha kyun na mar jata hu

 

Maut Ki Arzoo Shayari | Meri Maut ke Baad shayari

Maut Shayari In hindi, Meri Maut Ke Baad Shayari Image, Meri Maut Shayari Image, Maut Shayari image

This is box title

Ae Maut Aakar Mujhe Hamesha Ke Liye Sula Jana

Roz Unki Yaadon Mein Ab Maraa Nahi Jata

ए मौत आकर मुझे हमेशा के लिए सुला जाना

रोज़ उनकी यादों में अब मरा नही जाता।।

 

11.Meri Maut Ke Baad Shayari

Maine Maut Se Kaha, Ae Maut Thoda Waqt Intezaar Kar Le

Woh Aate Hi Honge Jinhone Saath Jeene Marne Ki Kasme Khayi Hai

Maut Ne Hass Kar Kaha, Jiska Intezaar kar Rahe Ho Tum

Usne Hi Toh Tumhe Zehareeli Chai Pilayi Hai…

मैने मौत से कहा, ए मौत थोड़ा वक़्त इंतज़ार कर ले

वो आते ही होंगे जिन्होंने साथ जीने मरने की कसमें खाई हैं

मौत ने हस कर कहा, जिसका इंतज़ार कर रहे हो तुम

उसने ही तो तुम्हें ज़हरीली चाय पिलाई है।।

11.

मौत को गले लगाऊं तेरी बेवफ़ाई से

इतना भी इश्क़ में माहिर नहीं

यादों में ही तड़प कर मर जाऊं

शायर हूँ कोई कायर नहीं

Maut Ko Gale Lagaunga Teri Bewafai Se

Itna Bhi Ishq Mein Maahir Nahi Hu

Yaadon Mein Hi Tadap Kar Marr Jaun

Shayar Hu Qayar Nahi

12.maut ki arzoo shayari

मौत आये और हमें अपने साथ ले जाए

तंग आ गए ज़िंदगी की परेशानियों से

Maut Aaye Aur Hume Apne Saath Le Jaye

Tang Aa Gaye Zindagi Ki Pareshaniyo Se

13.

इतनी हिम्मत नहीं के खुदकुशी कर लूं

पर इतनी भी नहीं कि तेरे दिए दर्द ज़र लूँ

Itni Himmat Nahi Ke Suside Kar Lu

Par Itni Bhi Nahi Ki Tere Diye Dard Zar Lu

14.maut ki arzoo shayari

मन में आए ख्याल खुदखुशी का

तो कुछ अपनों के बारे में सोच लेना

कैसे ज़िंदा रहेंगे बिन तेरे माँ बाप

यह सोच खुद को रोक लेना

Mann Mein Aaye Khayal Sucide Ka

Toh Kuch Apni Ke Bare Mein Soch Lena

Kaise Zinda Rahenge Bin Tere Maa Baap

Yeh Soch Khud Ko Rok Lena

15.

ऐसी ज़िंदगी से तो मौत ही बेहतर

अब हमसे और इंतज़ार नहीं होता

कैसे हो जाऊं किसी और का

तेरे बाद किसी से प्यार नहीं होता

Aisi Zindagi Se Toh Maut Hi Behtar

Ab Humse Aur Intzaar Nahi Hota

Kaise Ho Jaun Kisi Aur Ka

Tere Baad Kisi Se Pyar Nahi Hota

 

Bewafa Maut Shayari | अलविदा मौत शायरी

 

16.Meri Maut Ke Baad Shayari

Us Bewafa Se Naa Puchho Humari Maut Ki Wajah

Woh toh Zamane Ko Dikhane Ke Liye Ro Rahi Thi

Jab Hum Tadap Tadap Kar Marr Rahe The

Tab Woh Kisi Gair Ki Baahon Mein So Rahi Thi

उस बेवफा से ना पूछो हमारी मौत की वजह

वो तो ज़माने को दिखाने के लिए रो रही थी

जब हम तड़प तड़प कर मर रहे थे

तब वो किसी गैर कि बाहों में सो रही थी।।

 

17.Meri Maut Ke Baad Shayari

Tumne Dhokhe Se Dil Todda Humara

Tum Kehti Ek Baar To Hum Duniya Chhod Jaate

Tum Maang Leti Ek Baar Zindagi Humari

Hum Hass Kar Maut Ki Baahon Me So Jaate

तुमने धोखे से दिल तोड़ा हमारा

तुम कहती एक बार तो हम दुनिया ही छोड़ जाते

तुम मांग लेती एक बार ज़िन्दगी हमारी

हम हस कर मौत की बाहों में सो जाते।।

18.

तड़पता हूँ तुमसे मिलने को

तुम्हें मिलने मैं आ रहा हूँ

जैसे तुम गयी दुनिया छोड़

मैं भी छोड़ने जा रहा हूँ

Tadapta Hu Tumse Milne Ko

Tumhe Milne Main Aa Raha Hu

Jaise Tum Gayi Duniya Chhod

Main Bhi Chhodne Jaa Raha Hu

19.अलविदा मौत शायरी

मैं रात भर रोता रहता हूँ

तकिए को लिपट सोता रहता हूँ

मौत का इंतज़ार करता हूँ

तेरे बिन जी ना सकता हूँ

Main Raat Bhar Rota Rehta Hu

Takiye Ko Lipat Sota Rehta Hu

Maut Ka Intezaar Karta Hu

Tere Bin Jee Na Sakta Hu

20.

बेवफा तूने मुझे ऐसे क्यों रुला डाला

ज़िंदा भी छोड़ा और अंदर से मार डाला

Bewafa Tune Mujhe Aise Kyun Rula Dala

Zinda Bhi Chhoda Aur Andar Se Maar Dala

21. अलविदा मौत शायरी

मौत है कि आ नहीं रही

यादें उसकी जा नहीं रही

कहती थी आंसू ना आने दूंगी इन आँखों में

आज उसे रोती आंखें नज़र आ नहीं रही

Maut Hai Ki Aa Nahi Rahi

Yaadein Uski Jaa Nahi Rahi

Kehti Thi Aansu Na Aane Dungi In Aankhon Mein

Aaj Usey Roti Aankhein Nazar Aa Nahi Rahi

22. अलविदा मौत शायरी

उसकी यादों में रात रात भर जलता हूँ

सोचता हूँ एक ही बार में मर जाऊं

क्यों मैं ऐसे रोज़ रोज़ मरता हूँ

Uski Yaadon Mein Raat Raat Bhar Jalta Raha Hu

Sochta Hu Ek Hi Bad Mein Mare Jaun

Kyun Main Aise Roz Roz Marta Hu

 

मेरे जाने के बाद शायरी

 

23.Meri Maut Ke Baad Shayari

Meri Maut Par Aansu Bahane Aa Jana

Jeete Jee Nahi Lagaya Mujhko Tumne Seene Se

Meri Laash Ke Seene Par Kuch Ashq Bhaa Jana

मेरी मौत पर आंसू बहाने आ जाना

जीते जी नही लगाया मुझको तुमने सीने से

मेरी लाश के सीने पर कुछ अश्क बहा जाना।।

 

Meri Maut Ke baad Shayari, Maut Ki Chahat Shayari, Maut Shayari in Hindi

24.Meri Maut Ke Baad Shayari

Unki Yaadein Hai Ke Jeene Nahi Deti

Aur Unke Laut Kar Aane Ki Umeed Se Hum Marr Nahi Paate

उनकी यादें है के हमें जीने नही देती

और उनके लौट आने की उम्मीद से हम मर नही पाते।।

Teri Ek Jhalak | 15 Best Romantic Shayari Hindi

25.Meri Maut Ke Baad Shayari

Meri Maut Ke Baad Tum Aansu Bahaogi Kya

Tum Meri Laash Par Rone Aaogi Kya

Jeete Jee Toh Door Ho Tum Mujhse

Mere Marne Ke Baad Wapis Laut Aaogi Kya

मेरी मौत के बाद तुम आँसू बहाओगी क्या?

तुम मेरी लाश पर रोने आओगी क्या?

जीते जी तो दूर हो तुम मुझसे

मेरे मरने के बाद वापिस लौट आओगी क्या?

26.मरने की शायरी

तेरे इंतेज़ार में ही जिए जा रहा हूँ

उम्मीद है तुम लौट कर आओगी

इसलिए अभी तक ना मर पा रहा हूँ

Tere Intezaar Mein Hi Jiye Jaa Raha Hu

Umeed Hai Tum Laut Kar Aaogi

Isliye Abhi Tak Na Marr Paa Raha Hu

27.

मैं लड़ता रहा मुसीबतों से मगर

तेरी बेवफ़ाई से हार गया

मैं कभी ना मरता ऐसे बस

तेरी जुदाई का गम मार गया

Main Ladta Raha Musibaton Se Magar

Teri Bewafai Se Haar Gaya

Main Kabhi Na Marta Aise Bas

Teri Judai Ka Gam Maar Gaya

28.मरने की शायरी

ऊपर से जिंदा हूँ मगर

अंदर से मर चुका हूं

मेरा जो था मेरे पास सब

उस बेवफा के नाम कर चुका हूं

Upar Se Zinda Hu Magar

Andar Se Marr Chuka Hu

Mera Jo Tha Mere Paas Sab

Us Bewafa Ke Naam Kar Chuka Hu

29.

अपनों के बारे में सोच

खुद को टोक लेता हूँ

मर जाता कब का पर

माँ बाप के लिए खुद को रोक लेता हूँ

Apno Ke Bare Mein Soch

Khud Ko Tokk Leta Hu

Mar Jata Kab Ka Par

Maa Baap Ke Liye Khud Ko Rok Leta Hu

मरने की शायरी

 

मौत का इंतजार शायरी | maut ka intezar shayari in hindi

Maut ka intezaar shayari in hindi
Maut ka intezaar shayari in hindi

30.Meri Maut Ke Baad Shayari

Jeena Yahan Par Mehnga Hai

Aur Maut Yahan Par Sasti Hai

Jhooth Ke Peeche Sab Hai

Aur Sach Ki Naa Koi Hasti Hai

जीना यहां पर महंगा है 

और मौत यहाँ पर सस्ती है

झूट के पीछे सब हैं

और सच की ना कोई हस्ती है।।

31.Meri Maut Ke Baad Shayari

Tere Bina Main Jeen Nahi Paunga

Tum Naa Aayi Toh Me Marr Jaunga

Kuch Din Aur Intezaar Karunga Tera

Fir Hamesha Ke Liye Alvida Kar Jaunga

तेरे बिना मै जी नही पाऊंगा

तुम ना आई तो मै मर जाऊंगा

कुछ दिन और इंतजार करूंगा तेरा

फिर हमेशा के लिए अलविदा कर जाऊंगा।।

 

32.

Hum Ho Kar Barbad Kisi Ke Pyar Me Bethe Hai

Uske Laut Aane Ka Intezaar Karte Thak Gaye Hai

Ab Bas Maut Ke Intezaar Me Bethe Hai

हम हो कर बर्बाद किसी के प्यार में बैठे हैं

उसके लौट कर आने का इंतजार करते थक गए हैं

अब बस मौत के इंतजार में बैठे हैं।।

 

33.मौत पर शायरी

मौत पर भी यकीन है

उन पर भी ऐतबार है

देखते हैं पहले कौन आता है

दोनों का इंतेज़ार है

Maut Par Bhi Yakin Hai

Un Par Bhi Aitbaar Hai

Dekhte Hain Pahle Kaun Aata Hai

Dono Ka Intezaar Hai

 

34.मौत पर शायरी

दिल के टूटने की अब ना आवाज़ आयी है

लगता है टूट टूट कर मर चुका है दिल

Dil Ke Tutne Ki Ab Na Aawaz Aayi Hai

Lagta Hai Toot Toot Kar Mar Chuka Hai Dil

 

35.मौत पर शायरी

बहुत हुआ तेरा इंतेज़ार

अब तो बस मौत आनी है

बाकी की बची ज़िन्दगी

मौत के इंतजार में बितानी है

Bahut Hua Tera Intezaar

Ab To Bas Maut Aani Hai

Baaki Ki Bachi Zindagi

Maut Ke Intezaar Mein Bitaani Hai

 

36.मौत पर शायरी

तेरे इंतेज़ार में दिल तड़प रहा है

मंज़िल नहीं कोई रास्तों पर भटक रहा है

मौत आनी है तेरे इंतेज़ार मैं

तेरे आने की उम्मीद में तड़प रहा है

Tere Intezaar Mein Dil Tadap Raha Hai

Manzil Nahi Koi Raaston Par Bhatak Raha Hai

Maut Aani Hai Tere Intezaar Main

Tere Aane Ki Umeed Mein Tadap Raha Hai

 

37.मौत पर शायरी

ज़िंदा हूँ तो कोई भी नहीं पूछता

मर गया तो सब अपना बताएंगे

जो करते हैं मेरी मौत की दुआ हमेशा

मरने पर वो भी आँसू बहाएंगे

Jindaa Hu To Koi Bhi Nahi Puchhtaa

Mar Gaya To Sab Apna Batayenge

Jo Karte Hain Meri Maut Ki Duaa Humesha

Marne Par Vo Bhi Aansu Bahayenge

 

38.मौत पर शायरी

एक दिन कफ़न ओड कर सोना है

जिसका मुझे इंतेज़ार है तब उसने भी रोना है

आज नहीं उनके पास वक़्त हमारे लिए

जब मर जाऊंगा उस दिन ही वक़्त होना है

Ek Din Kafan Odd Kar Sona Hai

Jiska Mujhe Intezaar Hai Tab Usne Bhi Rona Hai

Aaj Nahi Unke Paas Waqt Humare Liye

Jab Mar Jaaunga Us Din Hi Waqt Hona Hai

 

39.मौत पर शायरी

वक़्त आया जब हमारा तो चले जायेंगे

आज दुखी हैं जो हमें ज़िंदा देख कर

एक दिन उनको खुश कर जायेंगे

वक़्त आने पर हम भी मर जायेंगे

Waqt Aaya Jab Hamara To Chale Jayenge

Aaj Dukhi Hain Jo Humein Jindaa Dekh Kar

Ek Din Unko Khush Kar Jaayenge

Waqt Aane Par Ham Bhi Marr Jayenge

 

40.meri maut ke baad shayari

किसी को आज तो किसी को कल जाना है

मौत किसी से रूठी नहीं उसने सब को अपनाना है

Kisi Ko Aaj To Kisi Ko Kal  Jaanaa Hai

Maut Kisi Se Ruthi Nahi Usne Sab Ko Apnanaa Hai

 

41.मौत पर शायरी

कभी होना ना उदास मेरे जाने के बाद

बाकी बची ज़िंदगी अकेले बीता लेना

खुदा ने चाहा तो मिलेंगे किसी और जन्म में

इस ज़िंदगी को तुम अकेले ही सजा लेना

Kabhi Hona Naa Udaas Mere Jaane Ke Baad

Baaki Bachi Jindgi Akele Bitaa Lenaa

Khuda Ne Chaaha To Milenge Kisi Aur Janm Mein

Is Zindagi Ko Tum Akele Hi Sajaa Lenaa

 

42.मौत पर शायरी

कुछ पैसों की खातिर बिक गया वो

हमें जान से मार डाला

हमने ज़िन्दगी दी थी उसके हाथ में

उसने उसे नीलाम कर डाला

Kuchh Paison Ki Khaatir Bikk Gayaa Vo

Hamein Jaan Se Maar Daala

Humne Jindgi Di Thi Uske Haath Mein

Usne Use Nilaam Kar Daala

43.meri maut ke baad shayari

हुआ था इश्क़ तुझ से और होता ही गया

तेरे जाने के बाद ज़िंदगी जीने का मज़ा

बिल्कुल ही खत्म हो गया।।

Hua Tha Ishq Tujh Se Aur Hota Hi Gaya

Tere Jane Ke Baad Zindagi Jeene Ka Maza

Bilkul Hi Khatam Ho Gaya

44.

मौत तो यूँ ही बदनाम है साहेब

असली दर्द तो जिंदगी देती है

Maut Toh Yun Hi Badnam Hai Saheb

Asli Dard Toh Zindagi Deti Hai

This is box title

पुकार रहा हूँ तुझ को तुम लौट आओ

इससे पहले में मौत का हो जाऊं

आकर तुम मुझे गले से लगाओ

Pukar Raha Hu Tujhko Tum Laut Aao

Isse Pehle Mein Maut Ka Ho Jaun

Aakar Tum Mujhe Gale Se Lagao

46.

यह चलते चलते साँसें थम गयी

पता चला तेरी बेवफ़ाई का तो

इस दिल की धड़कने रुक गयी

Yeh Chalte Chalte Saansein Tham Gayi

Pata Chala Tere Bewafai Ka Toh

Is Dil Ki Dhadkan Rukk Gayi

This is box title

suside shayari in hindi
मौत का इंतज़ार शायरी

ज़िंदगी आखरी मुक़ाम पर है

क्या पता कब साँसें थम जाएँ

Zindagi Aakhri Mukam Par Hai

Kya Pata Kab Saansein Than Jaayein

48.

मौत का इंतज़ार है आती ही नहीं

उसकी यादें हैं कि जाती ही नहीं

Maut Ka Intezaar Hai Aati Hi Nahi

Uski Yaadein Hain Ki Jati Hi Nahi

49.

मुसीबतें तो पल पल आती रहती हैं

मौत से ज्यादा ज़िंदगी सताती रहती है

Musibtein Toh Pal Pal Aati Rehti Hai

Maut Se Ziyada Zindagi Satati Rehti Hai

This is box title

जिन्होंने रुलाया ज़िंदगी भर मुझे

मौत को गले लगाकर उनको मैं रुला जाऊंगा

Jinhon Ne Rulaya Zindagi Bhar Mujhe

Maut Ko Gale Lagakar Unko Rula Jaunga

51.

तुझे लड़ते रहना है हारना नहीं है

ज़िंदगी से डर कर मौत के पीछे भागना नहीं है

Tujhe Ladte Rehna Hai Harna Nahi Hai

Zindagi Se Darr Kar Maut Ke Peeche Bhagna Nahi Hai

52. Maut ka intezar shayari in hindi

चलती रहे साँसें और बढ़ता रहे नाम

मुसीबतों से लड़ते रहना

यही तो है जिंदगी जीने का नाम

Chalti Rahe Saansein Aur Badhta Rahe Naam

Musibaton Se Ladte Rehna

Yahi Toh Hai Zindagi Jeene Ka Naam

53.

सब छोड़ कर संसार भगवान के घर जा रहा हूँ

मैं थक कर ज़िंदगी से मौत को गले लगा रहा हूँ

Sab Chhod Kar Sansar Bhagwan Ke Ghar Ja Raha Hu

Main Thak Kar Zindagi Se Maut Ko Gale Laga Raha Hu

 

मरने की शायरी

 

54.

ज़िंदगी भगवान का तोहफा है इसे खोना मत

किसी बेवफा की खातिर मौत के होना मत

Zindagi Bhagwan Ka Tohfa Hai Isey Khona Mat

Kisi Bewafa Ki Khaatir Maut Ke Hona Mat

55. मरने की शायरी

खुदकुशी कर किसी को खुश ना करूँगा

मैं ऐसे कायरों की तरह कभी ना मरूंगा

जो करते हैं हर वक़्त मेरी मौत की दुआ

उन लोगों को ज़िंदा रहकर जलाता रहूंगा

Susaid Kar Kisi Ko Khush Na Karunga

Main Aise Kayaron Ki Tarah Na Marunga

Jo Karte Hai Har Waqt Meri Maut Ki Dua

Un Logon Ko Zinda Reh Kar Jalata Rahunga

56.

मेहनत करोगे तो जिंदगी खुशहाल हो जाएगी

जो खुदकुशी करने की बातें सोचते हो अक्सर

ऐसा बातें फिर दिमाग में कभी ना आयेंगी

Mehnat Karoge Toh Zindagi Khushhal Ho Jayegi

Jo Sucide Karne Ki Baatein Sochte Ho Aksar

Aisi Baatein Fir Dimag Mein Bhi Na Aayengi

57.मरने की शायरी

ज़िंदगी जो मिली है इसे जी कर दिखाओ

बहादुर बन कर लड़ो अपने हालातों से

ऐसे कायरों की तरह ना मर जाओ

Zindagi Jo Mili Hai Isey Jee Kar Dikhao

Bahadur Ban Kar Lado Apne Halaton Se

Aise Kayaron Ki Tarah Na Marr Jao

58.

मौत इंतेज़ार में खड़ी है मगर मैं लड़ता जा रहा हूँ

मौत को चकमा देकर मैं अभी तक जीता आ रहा हूँ

Maut Intezaar Mein Khadi Hai Magar Main Ladta Jaa Raha Hu

Maut Ko Chakma Dekar Main Abhi Tak Jeeta Jaa Raha Hu 

Read More: Tu Bewafa Hai Shayari | 15 Best Bewafa Shayari in Hindi